4858345648

अमेरिकी मीडिया आउटलेट को दिए अपने पहले टीवी इंटरव्यू में, क्राउन प्रिन्स मोहम्मद बिन सलमान ने महिलाओं के अधिकारों और उनके काले गाउन जो सऊदी महिलाओं की पारंपरिक पोशाक होती है जिसे “अबाया” कहा जाता है. क्राउन प्रिंस ने महिलाओं के अधिकारों की बात तो की ही साथ ही उन्होंने सऊदी महिलाओं के कपड़े पहनने की पसंद पर भी एक बड़ा बयान दिया है.

अल अरेबिया के मुताबिक, क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने सीबीएस न्यूज़ चैनल की एंकर नोरा ओडोनेल को बड़ा बयान देते हुए कहा कि महिलाओं को अपनी पोशाक पहनने का चयन करने की आजादी होना चाहिए. महिलाओं को किस पोशाक में सही लगे उन्हें  पहनने की आजादी होनी चाहए और यह काले अबाया तक सीमित नहीं होना चाहिए.

अपनी मर्ज़ी के कपड़े पहन सकती है सऊदी महिलाएं

क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने एंकर को “मॉडरेट इस्लाम” को बदावा देने के प्रयासों के बारें में बताया. वर्ल्ड न्यूज़ अरेबिया को मिली जानकारी के मुताबिक, उन्होंने कहा कि हम ब्रिटेन के साथ मिलकर मॉडरेट इस्लाम को बढ़ावा देंगे.

बिन सलमान ने आगे कहा कि, हमारे समाज में कुछ ऐसे कट्टरपंथी लोग म,औजूद है जो दो पुरुषों और महिलाओं के बीच  के अंतर को नहीं समझते है. महिलाओं को नौकरी करने की आजादी भी होनी चाहए. इस्लाम में महिला और पुरुष का बराबरी का हक है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें