china america

इन दिनों चीन ने अमेरिका को एक चेतावनी दी है. चीन ने घोषणा की है कि वह अब अमेरिका के खिलाफ कड़े क़दम उठाने को पूरी तरह तैयार है. कोहराम न्यूज़ को मिली जानकारी के मुताबिक, चीन के वित्त मंत्रालय ने एक बयान जारी किया जिसमें उन्होंने घोषणा की है कि  अगर अमेरिका व्यापार, पूंजी निवेश और तकनीकी मामलों में कोई भी एेसा क़दम उठाता है जिससे चीन के लिए रुकवाटें आएं तो फिर बीजिंग, वाशिग्टन के खिलाफ कड़े आर्थिक क़दम उठाएगा.

पार्स टुडे के मुताबिक, चीन के विदेश मंत्री ने इस बयान में बल देकर कहा गया है कि अमेरिका इस बात का प्रयास कर रहा है कि विभिन्न क्षेत्रों में चीन के पूंजी निवेश को रोका जाए. साथ ही चीन का कहना है कि वह अमेरिका की हर एक तरफ़ा कार्यवाही का विरोध करेगा.

आपको बता दें कि अमेरिका अपनी कंपनियों और संस्थाओं के माध्यम से चीन पर आर्थिक दबाव बनाना चाहता है. इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प, वैश्विक विरोध के बावजूद 8 मार्च को चीन सहित कई देशों से अल्मोनियम के आयात में कमी करने का आदेश दे चुके हैं.

आपको बता दें कि, इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन को एक बार फिर से चेताया था. अमेरिका में ट्रंप प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि उनका देश चीन को एशियाई देशों को ‘परेशान’ करने या उन पर ‘दबंगई’ करने की अनुमति नहीं देगा. पूर्वी एशियाई एवं प्रशांत मामलों की कार्यवाहक सहायक विदेश मंत्री सुसान थॉर्नटन ने सीनेट फोरेन रिलेशंस कमेटी के सदस्यों से कहा कि ट्रंप प्रशासन ने यह स्पष्ट कर दिया है कि अमेरिका चीन के साथ ‘फलदायी’ संबंध चाहता है और दोनों देशों को मतभेद सुलझाने के लिए काम करना चाहिए.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?