emerald_russia_4

मास्को | रूस में हीरे जवाहरातो की खान , बड़ी संख्या में मिलती है. न जाने कितने लोग इन खानों में काम करते है. इनमे काम करने वालो में एक बड़ी संख्या महिलाओ की भी है. लेकिन ये महिलाये किन हालातो में इन खानों में काम करती है , यह जानना भी बहुत जरुरी है. एक रिपोर्ट के मुताबिक यहाँ काम कर रही महिलाओ की रोज तलाशी ली जाती है. कंपनी को हमेशा डर लगा रहता है की कही कोई कर्मचारी खान से जवाहरात न चुरा ले जाए.

रूस की पन्ना (एमरल्ड ) खान में काम करने वाली महिलाओ ने आरोप लगाया है की हर रोज उनके कपडे उतारकर तलाशी ली जाती है. पुरुष कर्मचारी काम खत्म होने के बाद महिलाओ को एक अलग कमरे में ले जाते है. यहाँ महिलाओ को नंगे पैर ठन्डे फर्श पर खड़ा किया जाता है. इस दौरान कुछ पुरुष कर्मचारी महिलाओ के कपडे उतरवाता है. महिलाओ का यह भी आरोप है की पुरुष कर्मचारी, तलाशी लेते समय उनसे अभद्र व्यवहार करते है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस खान में काम करने वाली महिलाओ के समूह ने मीडिया को इसका खुलासा करते हुए बताया की हमें धमकाया जाता है की अगर हम इस बारे में किसी को बताएँगे तो हमें गायनेकॉलिजिकल ऐग्जामिनेशन चेयर पर भी बैठाया जाएगा. महिलाये डर की वजह से किसी को कुछ बोल नही पाती. इस समूह का आरोप है की जब खान में चारो और CCTV कैमरे लगे हुए है, हमें यूनिफार्म भी ऐसी दी जाती है जिसमे जेब नही है तो इन सब बातो का कोई औचित्य नही है.

इस समूह के मुताबिक हम 10 मिनट से ज्यादा टॉयलेट भी नही जा सकते. अगर इससे ज्यादा देर हो जाती है तो हमसे बेहद ही अन्तरंग सवाल किये जाते है. काम करते समय , बीच में हमें किसी भी समय बुला लिया जाता है और हमारी तलाशी शुरू हो जाती है. ऐसा नही है की पुरुष कर्मचारियों की तलाशी नही होती , उनकी भी तलाशी होती है लेकिन उनको इतनी प्रताड़ना झेलनी नही पड़ती.

Loading...