विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के प्रमुख टेड्रोस अधनोम घेब्रेयेसस ने कोरोना महामारी को लेकर चेतावनी जारी करते हुए कहा कि ठोस क़दम नहीं उठाने पर आने वाले दिनों में हालात बद से बदतर होने वाले है। उन्होंने यह भी कहा है कि अभी दूर-दूर तक सामान्य जनजीवन की कोई संभावना नजर नहीं आ रही।

बीबीसी के अनुसार, गेब्रियेसस ने कहा कि दुनिया के कई सारे देश कोरोना से निपटने के मामले में ग़लत दिशा में जा रहे हैं। डॉ टेड्रोस ने कहा कि कोरोन वायरस से संक्रमण के नए मामले बढ़ रहे हैं और इससे साबित होता है कि जिन एहतियात और उपाय की बात की जा रही है, उनका पालन नहीं किया जा रहा है।

सोमवार को जिनेवा में प्रेस वार्ता के दौरान डॉ टेड्रोस ने कहा कि दुनिया भर के नेता जिस तरह से महामारी से निपटने की कोशिश कर रहे हैं उससे लोगों का भरोसा कम हुआ है। डॉ टेड्रोस ने कहा, ”कोरोना वायरस अब भी लोगों का नंबर वन दुश्मन है लेकिन दुनिया भर की कई सरकारें इसे लेकर जो क़दम उठा रही हैं, उससे ये आभास नहीं होता है कि कोरोना को ये गंभीर ख़तरे की तरह नहीं ले रही हैं।”

डॉ टेड्रोस ने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग, हाथ धोना और मास्क पहनना इस महामारी से बचने के कारगर तरीक़े हैं और इन्हें गंभीरता से लिए जाने की ज़रूरत है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि निकट भविष्य में ऐसा लगता नहीं है कि पहले की तरह सब कुछ सामान्य हो जाएगा। डॉ टेड्रोस ने कहा, ”अगर बुनियादी चीज़ों का पालन नहीं किया गया तो एक ही रास्ता है कि कोरोना थमेगा नहीं और वो बढ़ता ही जाएगा। यह बद से बदतर होता जाएगा।”

विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के अनुसार मध्य यूरोप के समयानुसार 12 जुलाई की सुबह 10 बजे तक पूरी दुनिया में कोविड-19 के पुष्ट मामलों की संख्या एक दिन पहले की तुलना में 2,30,370 से बढ़कर 1,25,52,765 तक जा पहुंची, जबकि मौ’त के मामलों की संख्या एक दिन पहले से 5,285 से बढ़कर 5,61,617 तक पहुंच गई।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन