uaee

अमरीकी पत्रकार जमाल खागोशी के तुर्की स्थित सऊदी दूतावास से लापता होने को लेकर सऊदी अरब पर उनकी ह*त्या के आरोप लग रहे है। तुर्की इस मामले में सऊदी अरब से उनके जीवित दूतावास से बाहर निकल जाने के सबूत मांग चुका है। इतना ही नहीं ये भी दावा कर चुका है। दूतावास में हुई खागोशी की ह*त्या के उनके पास सबूत है।

ऐसे में अब संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के विदेश मंत्री अनवर गार्गश ने कहा कि जो भी सऊदी अरब को निशाना बनाकर चिंगारी भड़का रहे हैं, उनके इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा।  गुरुवार को ट्वीट कर गरगश ने कहा, “रियाद के खिलाफ इस क्रूर अभियान की हमें उम्मीद है लेकिन सऊदी अरब को निशाना बनाने वालों को इसके नतीजे भुगतने के लिए भी तैयार रहना चाहिए।”

हालांकि अब इस मामले में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होने कहा, अगर उनकी ह*त्या हुई तो सऊदी अरब को कड़ी सजा दी जाएगी। ट्रंप का यह बयान ऐसे समय आया है जब सऊदी पत्रकार मामले को लेकर उन पर अमेरिकी सांसदों और मीडिया का दबाव बढ़ता जा रहा है। अमेरिका के करीब दो दर्जन सांसदों ने पत्र लिखकर उनसे इस मामले की जांच कराने की मांग की है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अमेरिकी राष्ट्रपति ने शुक्रवार को एक साक्षात्कार में कहा, ‘इस समय, उन्होंने (सऊदी) इससे इनकार किया है और जोरदार खंडन किया है। क्या वे इसके पीछे हो सकते हैं? हां।’ सीबीएस ने कहा कि साक्षात्कार रविवार शाम को प्रसारित किया जाएगा।

ट्रंप ने कहा कि मामला खासतौर पर इस वजह से महत्वपूर्ण है ‘कि वह शख्स एक संवाददाता था।’ उन्होंने सीबीएस चैनल के ‘60 मिनट्स’ कार्यक्रम में कहा, ‘हम इसकी तह तक जाएंगे और कड़ी सजा दी जाएगी।’

Loading...