Monday, January 17, 2022

हथियारों की बिक्री से होने वाला मुनाफा हैं पश्चिम की चुप्पी का कारण

- Advertisement -

सिडनी विश्व विद्यालय के प्रोफेसर ने कहा है कि पश्चिम यमन पर सऊदी अरब के अतिक्रमण के मार्ग में बाधा बनने का इरादा नहीं रखता है।

टिम अंडरसन ने प्रेस टीवी के साथ साक्षात्कार में कहा कि सऊदी अरब के हाथों हथियारों की बिक्री से होने वाला मुनाफा इस बात का कारण बना है कि पश्चिम यमन में सऊदी अरब के अपराधों से आंख मूंद ले।

उन्होंने स्पष्ट किया कि अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस अब भी सऊदी अरब को हथियार बेच रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन तीनों देशों ने यमन की अत्याचारग्रस्त जनता पर सऊदी अरब के अतिक्रमणों को रोकवाने के लिए कोई गम्भीर कार्यवाही नहीं की है।

टिम अंडरसन ने कहा कि इस्राईल की भांति सऊदी अरब को भी अंतरराष्ट्रीय कानूनों से संरक्षण प्राप्त है।

इस विशेषज्ञ ने कहा कि अमेरिका और कुछ पश्चिमी देश हर कुछ समय पर जायोनी शासन द्वारा फ़िलिस्तीन के अतिग्रहित क्षेत्रों में यहूदी कालोनियों के निर्माण की आलोचना करते हैं परंतु व्यवहारिक रूप से वे कुछ नहीं करते हैं और यह ठीक वही चीज़ है जिसके हम रियाज़ के संबंध में भी साक्षी हैं।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles