bill-gates-quotes

वौइस् हिंदी नेटवर्क | नोट बंदी पर मोदी के फैसले का बचाव कर रही बीजेपी , इस बात का प्रचार करने में लगी है की केंद्र सरकार के इस फैसले से देश को आगे ले जाने में सहायता मिलेगी. यही नही बीजेपी ने माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ बिल गेट्स के बारे में भी प्रचारित किया है की उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के फैसले की सराहना करते हुए इसे एक साहसिक कदम बताया है. अब बिल गेट्स ने इस बात का खंडन करते हुए कहा की मैं इसके बारे में कुछ नही कह सकता.

हालांकि एक वेबसाइट के हवाले से कहा गया की बुधवार को बिल गेट्स ने मोदी सरकार के फैसले की प्रशंसा करते हुए कहा था की यह मोदी सरकार का साहसिक कदम है. विमुद्रीकरण से तमाम सुरक्षा मानको से लैस नए नोट बाजार में आयेंगे जिससे देश को शैडो इकॉनमी से बाहर निकलने में मदद मिलेगी. भारत के लिए यह कदम इसलिए भी महतवपूर्ण है क्योकि इससे भारत पारदर्शी अर्थव्यवस्था की तरफ कदम आगे बढ़ा सकेगा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

गुरुवार को खबर आई की बिल गेट्स अपने पुराने बयान से मुकर गए है. बिल गेट्स ने एक दुसरे बयान में नोट बंदी पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया. जब उनसे विमुद्रीकरण के बारे में राय ली गयी तो उन्होंने कहा की मैं विमुद्रीकरण का नही बल्कि  डिजिटाइजेशन का समर्थक हूँ. मैं चाहता हूँ की सारी दुनिया की अर्थव्यवस्था  डिजिटाइजेशन की और बढे.

जब पत्रकारों ने बिल गेट्स से पुछा की आपने अपने एक बयान में मोदी सरकार के फैसले की प्रशंसा की , तो क्या आप मानते है की लोगो को अपने पैसो के लिए लाइन में लगना सही कदम है, पर बिल गेट्स ने कहा की मैं इस पर कुछ नही कहूँगा क्योकि विमुद्रीकरण पर मेरी कोई राय नही है. इस पर किसी ने भी मेरी कोई राय नही ली है. न विमुद्रीकरण से पहले और न बाद में.

बिल गेट्स ने कहा की मुझे मोदी सरकार के फैसले के बारे में अखबारों से पता चला. जब मैं एअरपोर्ट पहुंचा तो वहां लम्बी लम्बी लाइन लगी हुई थी. जब मैंने इसके बारे में पुछा तो किसी ने बताया की यह विमुद्रीकरण की वजह से है. अगर आप मेरी राय लेना चाहते है तो बता दूँ की मैं डिजिटाइजेशन का समर्थक हूँ न की विमुद्रीकरण का.

Loading...