कथित आतंकी संगठन आईएसआईएस के खिलाफ कारवाई के नाम पर अमेरिका ने इराक में आसमान से बम बरसा कर 230 बेगुनाह लोगों को हमेशा के लिए मौत की नींद सुला दिया हैं.

प्राप्त जानकारी के अनुसार मुसिल के आवासीय क्षेत्रों पर अमेरिका की और से की गई इस बमबारी में ज्यादातर शरणार्थियों की मौत हुई हैं. इनमे बच्चें और महिलाएं भी शामिल हैं. अमेरिका की और से बरसाए गए बमों तबाह होने वाले एक मकान के मलबे से एक 130 लोगों का शव निकाला जा चुका है जबकि दो अन्य घरों पर हुई बमबारी में भी कम से 100 आम नागरिक मारे गये हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

नए मूसिल के क्षेत्र के रोहमा अस्पताल के निकट बमबारी से तबाह हुए घरों के मलबे से लाशों को निकालने का काम अब भी जारी हैं. सुरक्षा बलों का कहना हैं कि जिस समय अमरीकी गठबंधन ने यह हमला किया उसी समय इन घरों के निकट विस्फोटक पदार्थों से लदे हुए एक ट्रक में भीषण धमाका हुआ जिसके कारण इतने व्यापक स्तर पर तबाही हुई है.

Loading...