bosn1

bosn1

बोस्निया नरसंहार में 8000 मुस्लिमों के कातिल कमांडर स्लोबोडन प्रलजक ने कोर्ट में ही जहर पीकर आत्महत्या कर ली.

उसने ये कदम  संयुक्त राष्ट्र के न्यायाधीशों ने बोस्नियाई मुसलमानों के खिलाफ युद्ध अपराधों के लिए 20 साल की सजा के खिलाफ उनकी अपील को खारिज कर देने के बाद उठाया.

अपने खिलाफ फ़ैसला आते ही स्लोबोदान खड़ा हुआ, हाथ मुंह तक ले गया और कुछ पीने के अंदाज़ में सर पीछे किया. इस दौरान उसका वकील चिल्लाया ‘मेरे मुवक्किल ने जहर खा लिया है. थोड़ी ही देर में वहाँ पर एंबुलेंस पहुंच गई, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका.

ध्यान रहे 2013 में स्लोबोडन को  1992-1995 में बोस्नियाई युद्ध के दौरान मोस्टार शहर में अपराधों के लिए सजा सुनाई गई थी. स्लोबोडन बोस्निया क्रोएशिया के उन 6 राजनीतिक और सैन्य नेताओं में से थे, जिनकी सुनवाई हेग में अंतरराष्ट्रीय क्रिमिनल ट्राइब्यूनल (ICTY) में चल रही थी.

1992 में बोस्नियाई मुसलमानों और क्रोएशियाई लोगों ने आज़ादी के लिए कराये गए जनमत संग्रह के पक्ष में वोट दिया था जबकि सर्बिया के लोगों ने इसका बहिष्कार किया था. जिसके बाद बोस्निया में लड़ाई भड़क गई. बोस्नियाई मुसलमान और क्रोएट्स लोग एक तरफ़ थे तो दूसरी तरफ़ बोस्नियाई सर्ब.

राष्ट्रवाद के नाम पर हुई इस लड़ाई में एक लाख से ज़्यादा लोगों ने अपनी जान गंवाई और तकरीबन 22 लाख बेघर हुए. तुर्की मूल के मुसलमानों का बोस्निया पर 500 सालों तक राज रहा. ऐसे में इस लड़ाई को मुस्लिमों से बदले के रूप में लिया जाता है.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें