Monday, October 25, 2021

 

 

 

जेरुसलम पर ट्रंप के फैसले के खिलाफ सुरक्षा परिषद में होगी वोटिंग

- Advertisement -
- Advertisement -

इस्लाम धर्म के तीसरे सबसे पवित्र स्थल अल-क़ुद्स यानि जेरुसलम को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा के साजिश के तहत इजरायल को सौंपे जाने की कोशिश के खिआफ सयुंक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद में प्रस्ताव पेश होने जा रहा है.

मिस्र द्वारा प्रस्ताव के मसौदे को तैयार कर लिया गया है. साथ शनिवार को सुरक्षा परिषद के सदस्यों को प्रस्ताव सौंप भी दिया गया है. ध्यान रहे अमेरिकी राष्ट्रपति ने जेरुसलम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता देते हुए अमेरिकी दूतावास को तेल-अवीव से जेरुसलम शिफ्ट करने का आदेश दिया है.

प्रस्ताव में कहा गया, “हर उस फ़ैसले व कार्यवाही की कोई क़ानूनी हैसियत नहीं है. जिसका लक्ष्य पवित्र बैतुल मुक़द्दस का दर्जा, उसकी जनांकिकी संरचना या उसकी स्थिति को बदलना है और उस फ़ैसले व कार्यवाही को सुरक्षा परिषद के संबंधित प्रस्तावों का पालन करते हुए रद्द होना चाहिए.”

प्रस्ताव में कहा गया, “सभी राष्ट्रों पर बल दिया जाता है कि वह सुरक्षा परिषद के 1980 में पारित हुए प्रस्ताव नंबर 478 का पालन करते हुए बैतुल मुक़द्दस में किसी तरह का कूटनैतिक मिशन क़ायम करने से दूर रहे.”

यह प्रस्तावित मसौदा, अमरीकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प के 6 दिसंबर 2017 को बैतुल मुक़द्दस को ज़ायोनी शासन की राजधानी के रूप में मान्यता देने और अमरीकी दूतावास को तेल अविव से बैतुल मुक़द्दस स्थानांतरित करने के एलान के ख़िलाफ़ लाया गया है.

यह मसौदा “सभी राष्ट्रों से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के बैतुल मुक़द्दस से संबंधित प्रस्तावों का पालन करने और इन प्रस्तावों के ख़िलाफ़ किसी भी कार्यवाही को मान्यता न देने की मांग करता है.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles