Saturday, October 23, 2021

 

 

 

न्यूजीलैंड में मस्जिद हमले का Video आया सामने, भागते नजर आ रहे बांग्लादेश के खिलाड़ी

- Advertisement -
- Advertisement -

क्राइस्टचर्च : न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदों में शुक्रवार को नमाज के दौरान हुए हमले में 40 लोगों के मारे जाने की खबर है। पुलिस ने एक महिला समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने मस्जिद के पास से एक कार से कई आईईडी को डिफ्यूज किया।

इस घटना का एक VIdeo सामने आया है। जिसमे बांग्लादेश की क्रिकेट टीम के खिलाड़ी अपनी जान बचाने के लिए भागते हुए नजर आ रहे है। हालांकि, घटना के बाद फेसबुक और ट्विटर ने यह वीडियो ब्लॉक कर दिए हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, हमलावर ब्रेंटन ने खतरनाक मंशा वाला 37 पन्नों के एक मैनिफेस्टो भी लिखा था। ब्रेंटन के पास ऑस्ट्रेलिया की नागरिकता है।

बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के प्रवक्ता जलाल यूनुस ने बताया कि पूरी टीम को बस में बिठाकर मस्जिद लाया गया था और जब गोलीबारी हुई, तब टीम मस्जिद में प्रवेश करने ही वाली थी। उन्होंने एएफपी से कहा, ‘वे सुरक्षित हैं, लेकिन वे सदमे में हैं। हमने टीम से होटल में रहने को कहा है।’

खिलाड़ी तमीम इकबाल ने ट्वीट किया कि यह ‘डरावना अनुभव’ था और हमलावर गोलीबारी कर रहे थे। उन्होंने कहा, ‘पूरी टीम गोलीबारी से बच गई। डराने वाला अनुभव था और कृपया हमारे लिए प्रार्थना कीजिए।’ उन्होंने कहा, ‘पुलिस मध्य क्राइस्टचर्च में मौजूद लोगों से सड़कों से हटने और किसी भी प्रकार की संदिग्ध गतिविधि दिखने पर उसकी सूचना देने की अपील करती है।’

सिटी काउंसिल ने पेरेंट्स के लिए हेल्पलाइन जारी की है ताकि बच्चों को सुरक्षित स्थान पर ले जाया जा सके। पास के इलाके में जलवायु परिवर्तन रैली के लिए लोग जुटने वाले थे। पुलिस ने कहा कि जब तक कहा न जाए, लोग किसी भी इलाके में न जाएं।

न्यूजीलैंड के प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न का कहना है कि मस्जिदों पर हुए हमले में 40 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। उन्होंने कहा कि डीन एवेन्यू मस्जिद में 30 लोग मारे गए और लिनवुड एवेन्यू मस्जिद में 10 अन्य लोगों की मौत हो गई है। यह आतंकी हमला था।

विपक्षी नेता बिल शॉर्टन ने क्राइस्टचर्च मस्जिद पर हमले की निंदा की और लोगों से हमलावर के वीडियो न तो शेयर करने और न ही उसे देखने की अपील की। उन्होंने कहा कि फुटेज को शेयर न करें। फुटेज न देखें। यह सामान्य जीवन का हिस्सा नहीं है। जिन लोगों ने यह हमला किया है, वे इस ओर ध्यान आकर्षित करना चाहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles