madur

वेनेज़ुएला के राष्ट्रपति ने देश में नोटबंदी की असफलता और उसके पीछे पैदा हुए हालात के लिए पूरी तरह से अमेरिका को जिम्मेदार ठहराया हैं.

फ़्रांस प्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, वेनेज़ुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादूरो ने मंगलवार को बताया कि अमरीका ने वेनेज़ुएला की सरकार में अपने कुछ तत्वों को घुसा दिया है ताकि वे देश के वित्तीय और बैंकिग व्यवस्था में उथल पुथल पैदा करे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मादूरो ने कहा कि दुशमनों का प्रयास, वेनेज़ुएला में पैसों की क्रांति की भूमिका प्रशस्त करना था ताकि नये नोटों से भरे चार जहाज़ों को लौटा सकें और सौ के बोलीवारी नोटों की विश्वसनीयता के बारे में दुश्मनों के षड्यंत्रों के स्पष्ट होने के कारण इसकी समय सीमा दो जनवरी तक बढ़ा दी गयी है.

निकोलस मादूरू ने पिछले सप्ताह घोषणा की थी कि अमरीका के नेतृत्व में अंतर्राष्ट्रीय माफ़िया से मुक़ाबले के उद्देश्य से जो अपनी गतिविधियों से वेनेज़ुएला की अर्थव्यवस्था को नुक़सान पहुंचाने के प्रयास में हैं, तीन दिन के दौरान सौ के नोट को बंद कर दिया जाएगा

Loading...