अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप पर एक लेखिका ने लगाया रे’प का आरोप

6:09 pm Published by:-Hindi News

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर न्यूयॉर्क में रहने वाली एक लेखिका और स्तंभकार ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। अमेरिकी कॉलमिस्‍ट इ जीन कैरोल ने आरोप लगाया है कि 90 के दशक में मैनहट्टन के एक डिपार्टमेंट स्टोर के ड्रेसिंग रूम में ट्रंप ने उनका रेप किया। हालांकि राष्ट्रपति ने आरोपों से इंकार करते हुए इन्हें फर्जी खबर बताया है।

ट्रंप की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि ‘मैं कभी इस महिला से नहीं मिला।’ ट्रंप पर बलात्‍कार का यह आरोप उसी महिला द्वारा लिखी किताब में लगाया गया है। लेखिका ने ट्रंप पर यह आरोप एक किताब ‘हीडियस मैन’ (hideous men) में लगाया है।

कैरोल ने लिखा कि ‘1995 या 1996 में बर्गडॉर्फ गुडमैन में उनकी दोस्‍ती ट्रम्प से हुई। एक दिन ट्रंप ने उसे ड्रेसिंग रूम की दीवार पर धक्का दिया, और निर्वस्‍त्र होकर सारा जोर उस पर लगा दिया।’ कैरोल ने कहा कि ‘भारी संघर्ष में उन्होंने ट्रंप को धक्का दिया और स्टोर से भाग गई।’ आने वाली इस किताब के प्रमुख अंश न्यूयॉर्क पत्रिका की वेबसाइट पर प्रकाशित हुए हैं।

अपने बचाव में ट्रंप की ओर से जारी बयान में कहा गया कि ‘यह घटना कभी हुई ही नहीं।’ अपने बयान में, ट्रंप ने आरोप को  ‘फेक न्यूज’ कहा और कहा कि कोई सबूत नहीं है। ट्रंप ने कहा- ‘कोई टिप्पणी नहीं? कोई सर्विलांस नहीं? कोई वीडियो नहीं? कोई रिपोर्ट नहीं? आसपास कोई सेल्स अटेंडेंट नहीं। मैं इस बात की पुष्टि करने के लिए बर्गडॉर्फ गुडमैन को धन्यवाद देना चाहूंगा कि उनके पास ऐसी किसी भी घटना का कोई वीडियो फुटेज नहीं है, क्योंकि ऐसा कभी नहीं हुआ।’

उन्होंने आरोप लगाया कि यह लेखिका का किताब बेचने के लिए हथकंडा है। उन्होंने बयान में कहा कि इस किताब को फिक्शन सेक्शन में बेचा जाना चाहिए। ट्रंप ने अपने बयान में कहा, ‘उन लोगों को शर्म आना चाहिए जो हमलों की झूठी कहानियां गढ़ते हैं। ये पब्लिसिटी के लिए या फिर किताब बेचने या फिर राजनीतिक अजेंडे के लिए ऐसा करते हैं, जैसे जूली स्वेटनिक ने जस्टिस ब्रेट कावनॉग पर राजनीतिक अजेंडे के तहत झूठे आरोप लगाए थे।’

बता दें कि तिष्ठित ‘एली’ मैगजीन के लिए लंबे समय तक सलाहकार स्तंभकार रहीं कैरोल उन 16 महिलाओं में शामिल हैं, जिन्होंने ट्रंप पर सार्वजिनिक तौर पर यौन दुर्व्यवहार का आरोप लगाए हैं। इनमें से ज्यादातर महिलाओं ने 2016 के राष्ट्रपति चुनाव से कुछ हफ्ते पहले ही ये आरोप लगाए थे।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें