अंकारा – तुर्की के राष्ट्रपति तय्यिप एर्दोगान ने सोमवार को कहा कि यरूशलेम को इजरायल की राजधानी के संयुक्त राज्य अमेरिका के निर्णय के रूप में वॉशिंगटन को हिंसा में सहभागित कर दिया।

इजरायल की लगातार आलोचक रहे एर्दोगान ने कहा है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने इस क्षेत्र में हिंसा की चपेट में आएगा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

एर्दोगान ने अंकारा में एक भाषण में कहा, “जो लोग मुसलमानों और अन्य धर्मों के सदस्यों के लिए यरूशलेम को एक तहखाना बनाते हैं, वे कभी अपने हाथों से रक्त को साफ नहीं कर पाएंगे.”

उन्होंने कहा, “यरूशलेम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता देने के उनके फैसले से, संयुक्त राज्य अमेरिका इस रक्तपात में एक भागीदार बन गया है,” उन्होंने कहा, उन्होंने ट्रम्प के निर्णय को बाध्यकारी नहीं माना.

ट्रम्प के फैसले ने पिछले हफ्ते यरूशलेम, पर लंबे समय से चली आ रही अमेरिकी नीति को उलट दिया. ध्यान रहे यरूशलेम की स्थिति पीढ़ियों से इस्राइल और फिलिस्तीनियों के बीच शांति समझौते की सबसे बड़ी बाधा है.

एर्दोगान ने सप्ताहांत में इजरायल को एक “आतंकवादी राज्य” और “आक्रमणकारी राज्य” के रूप में संदर्भित किया था, जिससे इज़राइली प्रधान मंत्री बेंजामिन नेतन्याहू को आग बबूला हो गए थे.

Loading...