अमेरिका के टेक्सास शहर में शनिवार को विक्टोरिया इस्लामिक सेंटर को कुछ चरमपंथियों ने आग के हवाले कर दिया था. इस घटना से मस्जिद के पिछले हिस्से को काफी नुकसान पहुंचा. जिसके बाद नमाज अदा करने के लिए परेशानी आने लगी.

ऐसे में स्थानीय मुस्लिम मस्जिद के बाहर ही खुले आसमान में नमाज अदा करने लगे. इसी बीच स्थानीय यहुदियों ने मुस्लिम समुदाय से अपनी इबादगाह में नमाज अदा करने की पेशकश की. यहूदियों ने उनकी बादतगाह साइनागॉग की चाबी मुस्लिम समुदाय को सौंपते हुए कहा कि जब तक मस्जिद बनकर पूरी तरह से तैयार नहीं हो जाती सभी साइनागॉग में नमाज अदा करे.

टेंपल ब्नाई इज़राइल के रॉबर्ट लोएब ने कहा है कि यहां टेक्सास में सभी एक दूसरे से परिचित हैं. मैं निजी तौर पर विक्टोरिया मस्जिद के कुछ लोगों को जानता हूं और हमें मस्जिद के जल जाने का दुःख है. जब भी ऐसा कुछ होता है तो हमें एक-दूसरे के साथ खड़े होना चाहिए. रॉबर्ट ने बताया कि विक्टोरिया इलाक़े में 25-30 यहूदी और तकरीबन 100 मुसलमान हैं.

वहीँ विक्टोरिया मस्जिद के संस्थापक शाहिद हाशमी ने कहा कि यहूदी समुदाय के कुछ सदस्य हमारे घर आए और नमाज़ के लिए साइनागॉग की चाबी दी. विक्टोरिया मस्जिद 2000 में बनाई गई थी. इस मस्जिद को दोबारा बनाने के लिए ऑनलाइन डोनेशन कैंपेन भी चलाया गया है और अभी तक नौ लाख अमेरिकी डॉलर का दान भी मिल चुका है.

इस मामलें में पुलिस ने एक 37 वर्षीय व्यक्ति को गिरफ्तार किया. इस शख्स का नाम आइजैक वाइन विल्सन बताया जा रहा हैं जो आग बुझाते समय मस्जिद के पीछे पड़ा मिला था. इस संदिग्ध को पहले भी मस्जिद में अव्यवस्था फैलाने की वजह से हिरासत में लिया गया था.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें