Friday, September 17, 2021

 

 

 

खशोगी मामले में अमेरिका ने 17 सऊदी नागरिकों पर प्रतिबंध लगाया

- Advertisement -
- Advertisement -

वॉशिंगटन: अमेरिका ने पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या के मामले में कथित रूप से संलिप्त 17 सऊदी नागरिकों पर बृहस्पतिवार को आर्थिक प्रतिबंध लगाने की घोषणा की। इनमें सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के करीबी भी शामिल हैं।

सऊदी अरब के सरकारी वकील ने घोषणा की है कि इस मामले में पांच अधिकारियों को मौत की सजा सुनायी जा सकती है लेकिन क्राउन प्रिंस को मामले में क्लीनचिट दे दी गयी है। इस घोषणा के बाद अमेरिका ने प्रतिबंध का एलान किया। अमेरिका के वित्त मंत्री स्टीवन न्यूचिन ने कहा, “जिन सऊदी अधिकारियों के खिलाफ प्रतिबंधों को मंजूरी दी गयी है वे पत्रकार जमाल खशोगी की नृशंस हत्या में शामिल थे। इन्हें अपने कृत्यों के परिणाम का सामना करना पड़ेगा।”

अमेरिका ने सऊद अल कहतानी, उनके मातहत माहेर मुतरीब, सऊदी अरब के महावाणिज्य दूत मोहम्मद अल उतैबी और एक ऑपरेशन दल के 14 अन्य सदस्यों पर प्रतिबंध लगाए हैं। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोंपियो ने गुरुवार को कहा कि यह कार्रवाई शासकीय आदेश 13818 के तहत की गई है जिससे ग्लोबल मैगनीटस्काई ह्यूमन राइट्स अकाउंटीबिलिटी एक्ट लागू होता है।

pom

पोंपियो ने कहा कि खशोगी के कत्ल के वक्त इन व्यक्तियों के पास शाही दरबार (रॉयल कोर्ट) में पद थे और सऊदी अरब सरकार में मंत्रालय थे। ग्लोबल मैगनीटस्काई ह्यूमन राइट्स अकाउंटिबिलिटी एक्ट अमेरिका को यह अधिकार देता है कि वह दुनिया भर में मानवाधिकारों की रक्षा करने और उन्हें बढ़ावा देने व भ्रष्टाचार का मुकाबला करने के लिए अहम कदम उठा सकता है।

इस प्रतिबंध के तहत, इन सभी व्यक्तियों की अमेरिकी अधिकार क्षेत्र में जो भी संपत्ति है उसके लेन-देन पर रोक लगा दी गई है और अमेरिकी लोगों को उनके साथ कोई भी लेन देन करने से रोक दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles