पश्चिम एशिया के लिए संयुक्त राष्ट्रसंघ के सामाजिक और आर्थिक आयोग ने एक रिपोर्ट प्रकाशित कर इस्राईल की सरकार को नस्लभेदी करार दिया. रिपोर्ट में कहा गया कि इस्राईल ने फिलिस्तीनियों के विरुद्ध नस्लभेदी सरकार थोपने का काम किया.

पश्चिम एशिया के लिए संयुक्त राष्ट्रसंघ के सामाजिक और आर्थिक आयोग के सहायक रीमा ख़लफ ने कहा है कि यह पहली बार है जब राष्ट्रसंघ से संबंधित संगठन ने इस्राईल को नस्लभेदी सरकार की संज्ञा दी है.

लेकिन अब संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव एंटोनियो गुटेरेश ने संयुक्त राष्ट्र के पश्चिमी एेशिया के सामाजिक व आर्थिक आयोग की इस रिपोर्ट को वापस लेने का आदेश दिया है. गुटेरेश ने अमेरिका के दबाव में इस रिपोर्ट को वापस लेने का आदेश दिया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दरअसल, अमरीका ने इस रिपोर्ट के प्रकाशित होने के बाद संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव से कहा था कि वह इस रिपोर्ट को हटाने का आदेश दें.

संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव एंटोनियो गुटेरेश की ओर से रिपोर्ट को आयोग की वेबसाइट से हटाने के आदेश के बाद, संयुक्त राष्ट्र संघ में पश्चिमी एेशिया के आर्थिक व सामाजिक आयोग की कार्यकारी सचिव सीमा ख़लफ ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है.

रीमा ख़लफ ने अपने त्यागपत्र का कारण, इस्राईल को नस्लभेदी बताने वाली रिपोर्ट को वापस लेने के लिए दबाव बताया है. याद रहे इस से पहले कभी भी इस्राईल को किसी अंतरराष्ट्रीय संगठन या संस्था की ओर से औपचारित रूप से नस्लभेदी शासन नहीं कहा गया था.

Loading...