फ़िलिस्तीन क्षेत्र में मानवाधिकारों की स्थिति पर नज़र रखने वाले विशेष संवाददाता माइकल लिंक ने मानवाधिका संसद के समाने कहा है कि 1967 में फ़िलिस्तीन पर क़ब्ज़ा करने के बाद से जिसे आज 50 साल से अधिक का समय हो चुका है, इस्राईल दुनिया का सबसे शैतानी और क्रूर आक्रमणकारी है।

आईयूवीएम प्रेस। कनाडा के इस अध्ययनकर्ता और संयुक्त राष्ट्र वॉच ने कहाः अपने फैसले के विपरीत 5 मिलियन लोगों पर विदेशी प्रभुत्व की निरंतरता, दमन, अधिकारों से वंचित करना और क़ानून को रौंदना है।

इस्राईली क़ब्ज़े वाले फ़िलिस्तीन में संयुक्त राष्ट्र के विशेष प्रतिनिधि माइकल लिंग ने फ़िलिस्तीनियों के अपमान की इस्राईली नीतियों की कड़ी निंदा की

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

माइकल लिंक ने अपनी रिपोर्ट में इस्राईल पर फ़िलिस्तीनों का अपमान करने और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं पर कार्यवाई तेज़ करने का आरोप लगाया।

उन्होंने अपनी रिपोर्ट को जनेवा में संयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार संसद में पेश किया।

 

Loading...