rohh123

rohh123

संयुक्त राष्ट्र ने बांग्लादेश में मौजूद रोहिंग्या लोगों की मदद के लिए फरवरी 2018 तक 43.4 करोड़ डॉलर की रकम जुटाने का लक्ष्य तय किया है. जिसमे से 344 मिलियन डॉलर से अधिक की रकम जुटाई जा चुकी है.

संयुक्त राष्ट्र आपातकालीन राहत समन्वयक मार्क लौकॉक ने बताया कि Coordination of Humanitarian Affairs (OCHA), UN High Commissioner for Refugees (UNHCR) और International Organization for Migration (IOM) सहित European Union और कुवैत की मदद से ये रकम एकत्रित की गई. इस सम्मेलन से पहले ही 10 करोड़ डॉलर की राशि या तो दी जा चुकी है या उसका वादा किया गया है. वहीँ सऊदी अरब ने 20 मिलियन डॉलर देने का आश्वासन दिया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

किंग सलमान सेंटर फॉर रिलीफ एंड ह्यूमनेटरियन एड (केएसरीलीफ) के निदेशक डॉ याहया अल्शमारी ने कहा कि उनकी मदद “रोहंग्या अल्पसंख्यक के दर्द और पीड़ा को कम करने में मदद करेगी, विशेष रूप से महिलाओं और बच्चों की. उन्होंने कहा, सऊदी अरब बांग्लादेश में शरणार्थियों का समर्थन करने के लिए और तत्काल जरूरी सहायता प्रदान करने के लिए आईओएम के साथ सहयोग करके केएसआरलीफ़ की एक टीम भेजकर वर्तमान संकट में हस्तक्षेप करने वाले पहले देशों में से एक है.

इस दौरान विश्व खाद्य कार्यक्रम की उप प्रमुख एलिजाबेथ रासमुसन ने बताया, “आज यहां पर हम आये हैं क्योंकि जितना हम अपने मौजूदा संसाधनों से मुहैया करा पा रहे हैं, जरूरत उससे कहीं ज्यादा है. हम लोगों की मदद करने की कोशिश कर रहे हैं. इसलिए आपसे ज्यादा मांग रहे हैं.

आईओएम के महानिदेशक विलियम लेसी स्विंग ने कहा कि हम म्यांमार में इस दशक के लंबे संकट के शांतिपूर्ण समाधान का समर्थन करने के लिए अंतरराष्ट्रीय नेताओं से आग्रह कर रहे है.

Loading...