संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव अंटोनियो गुटेरस ने कहा कि स्वतंत्र फ़िलिस्तीन देश के गठन का अब समय आ गया है. उन्होंने कहा है कि फ़िलिस्तीन समस्या संयुक्त राष्ट्र संघ के इतिहास की हल न होने वाली सबसे पुरानी समस्याओं में से एक है.

उन्होंने कहा कि वह इज़राइल और फिलीस्तीनियों को दो-राज्य समाधान प्राप्त करने में मदद करने के लिए काम करना जारी रखेंगे. इस दौरान इजरायल के घृणास्पद भाषण की भी निंदा की.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

गुटेरस ने महासभा में सत्तर साल पहले पारित होने वाले प्रस्ताव क्रमांक 181 की ओर संकेत करते हुए कहा कि अभी स्वाधीन और प्रभुसत्ता वाला फ़िलिस्तीन देश अस्तित्व में नहीं आया है. उन्होंने कहा, फ़िलिस्तीन के अतिग्रहित क्षेत्रों में पचास से अधिक वर्षों से जारी अतिग्रहण ख़त्म होना चाहिए.

इसी के साथ रूस के राष्ट्रपति विलादिमीर पुतीन ने भी फ़िलिस्तीनी जनता के अपने भविष्य निर्धारण के अधिकार का समर्थन किया है.

उन्होंने फ़िलिस्तीनी प्रशासन के प्रमुख महमूद अब्बास को एक टेलीग्राफ़ भेज कर कहा है कि संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य और चार पक्षीय अंतर्राष्ट्रीय समिति का सदस्य होने के नाते रूस अपने भविष्य निर्धारण के फ़िलिस्तीनी जनता के हक़ का समर्थन करता है.

उन्होंने कहा कहा कि उनका देश ज़ायोनी अतिग्रहणकारियों के चंगुल से फ़िलिस्तीनी धरती की मुक्ति और बैतुल मुक़द्दस की राजधानी वाले स्वतंत्र फ़िलिस्तीनी देश के गठन की आवश्यकता पर बल देता है.

Loading...