ब्रिटेन में चैरिटी पर नजर रखने वाली एक सरकारी संस्था ने ब्रिटेन के हिन्दू संगठनों से RSS से दूर रहने को कहा हैं. एक स्टिंग ऑपरेशन में संस्था को पता चला हैं कि आरएसएस से जुड़ा एक व्यक्ति एक कैम्प में मुसलमानों और ईसाइयों के खिलाफ जहर उगल रहा था.

चैरिटी कमिशन ने हिंदू स्वयंसेवक संघ (एचएसएस-यूके) की जांच संबंधित रिपोर्ट के तहत चेतावनी जारी करते हुए कहा कि इस दक्षिणपंथी समूह से औपचारिक संबंध रखने वाले एक वक्ता ने एक शिविर में मुसलमानों और ईसाइयों के खिलाफ टिप्पणी की थी.  दरअसल, एक टेलीविजन चैनल की खोजी पत्रकारिता से पता चला था कि इस समूह के एक शिविर में एक वक्ता ने मुस्लिम और ईसाई विरोधी बातें कीं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

यह वीडियो देखने के बाद आयोग इस नतीजे पर पहुंचा कि वक्ता की प्रभावी निगरानी में नाकाम रहते हुए इस चैरिटी के ऐडमिनिस्ट्रेशन ने व्यवस्था को सही ढंग से नही संभाला.

आयोग ने ‘इंक्वायरी रिपोर्ट: हिंदू स्वयंसेवक संघ’ नाम की एक रिपोर्ट तैयार की है जिसमें कहा गया है कि राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ के साथ औपचारिक संबंध वाले वक्ता की ओर से की गई टिप्पणियों के अलावा कोई सबूत नहीं है.

बहरहाल, जांच में न्यासियों को सलाह दी गई है कि यह सुनिश्चित करने के लिए अतिसक्रिय कदम उठाने की जरूरत है कि आरएसएस का इस परमार्थ संगठन एवं इसके कामकाज पर कोई नियंत्रण या प्रभाव न हो.

Loading...