UAE-Israel एकजुट ईरान के खिलाफ, परमाणु तनाव के बीच पहली बार अबुधाबी पहुंचे नफ्टाली

इजराइल और संयुक्त अरब अमीरात अपने साझा दुश्मन ईरान के खिलाफ एकजुट होने की तैयारी कर रहे है। 1948 में इजराइल के बनने के बाद नफ्टाली बेनेट पहले प्रधानमंत्री है जोकि ऑफिशल विजिट पर यूएई आए हैं। रविवार की शाम इजराइल के प्रधानमंत्री नफ्टाली बेनेट अबुधाबी पहुंच गए।

सोमवार को नफ्टाली बेनेट की मुलाकात यूएई क्रॉउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायेद अल-नाहयान से होगी। रिपोर्ट के मुताबिक दावा किया जा रहा है कि इजराइल के प्रधानमंत्री नफ्टाली कि इस विजिट के बाद सऊदी अरब भी बहुत जल्द ही इजराइल के साथ कूटनीति का रिश्ता बना सकता है।

hindi.news18 में प्रकाशित खबर के अनुसार नफ्टाली के अधिकारियों का कहना है कि, नफ्टाली बेनेट और मोहम्मद बिन जियाद के बीच इजराइल और संयुक्त अरब अमीरात के बीच संबंधों को मजबूत करने की बात होगी। दोनों देश आर्थिक और क्षेत्रीय मुद्दों पर बात करेंगे। इस मुलाकात में सैन्य स्तर पर भी बड़े समझौते हो सकते हैं।

दोनों देशों के बीच बैठक में दुनिया की बड़ी शक्तियों और ईरान के बीच न्यूक्लियर डील पर चल रही बातचीत हो रही है। यूएई और इजराइल दोनों देश नहीं चाहते हैं कि ईरान की पहुंच परमाणु शक्ति तक हो जाए। जिसको लेकर इजरायल ने पहले ही कहा है कि वह ईरान को परमाणु शक्ति बनने से रोकेगा।

इस विषय में ईरान का कहना है कि उसका परमाणु कार्यक्रम पूरी तरह से शक्ति पूर्ण उद्देश्य के लिए है। दोनों देशों की नजर एटमी ताकत बनने की कोशिश कर रहे इरान पर है। इजरायल इंटेलिजेंस पर भी यूएई की बहुत मदद कर सकता है और जल्द ही सऊदी अरब इजरायल का दामन थाम सकता है।

विज्ञापन