फ्रांस (France) में पैगंबर कार्टून विवाद को लेकर की गई टीचर की हत्या को लेकर दुनिया भर के मुसलमानों को सवालों के कठघरे में खड़ा कर दिया गया। लेकिन दूसरी और फ्रांस (France) की राजधानी पेरिस में एफिल टावर देखने गई दो मुस्लिम महिलाओं पर हुए जानलेवा चाकू हमले को लेकर पूरी दुनिया ने चुप्पी साध रखी है।

जानकारी के अनुसार, हमला दो यूरोपीय महिलाओं ने किया। इन महिलाओं ने मुस्लिम महिलाओं पर चाकू से कई बार वार किए। जिसमे वह बुरी तरह से घायल हो गई। इस दौरान उन्होने मुस्लिम और अरबी विरोधी अपशब्द से भी अपमानित किया गया। फ्रांस की पुलिस ने दो महिला संदिग्‍धों को इस नस्‍ली हमले के बाद अरेस्‍ट किया है।

पेरिस के अभियोजकों ने कहा कि इन महिलाओं के खिलाफ अब हत्‍या के प्रयास का मुकदमा चलेगा। इस हमले में घायल महिलाओं की पहचान अल्‍जीरिया मूल की फ्रांसीसी महिला केन्‍जा और अमेल के रूप में हुई है। केंजा को 6 बार चाकू मारा गया और उन्‍हें अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। अमेल को भी अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है और उनके हाथों की सर्जरी हुई है।

पेरिस पुलिस ने एक बयान जारी करके कहा कि 18 अक्‍टूबर को रात करीब 8 बजे पुलिस को सूचना मिली कि दो महिलाएं चाकू के हमले में घायल हैं। हमले की शिकार हुई एक महिला ने अपना चेहरा ढंक रखा था। केंजा ने बताया कि हम वॉक करने के लिए गए थे। एफिल टॉवर के पास एक हल्‍के अंधेरे वाला पार्क है और हम वहां पर थोड़ा घूमने लगे।

केंजा ने कहा, ‘जब हम घूम रहे थे, उसी समय दो कुत्‍ते हमारी तरफ आ गए। इससे हमारे बच्‍चे डर गए। मेरी कजिन ने बुर्का पहन रखा था। उसने कुत्‍ते की साथ आई दो महिलाओं से अनुरोध किया कि बच्‍चे डर रहे हैं, इसलिए वे अपने कुत्‍ते को थोड़ा दूर लेकर चली जाएं।

इस अनुरोध के बाद कुत्‍ते की मालकिन ने जाने से मना कर दिया और दोनों के बीच तीखी बहस शुरू हो गई।’ इसके बाद कुत्‍ते के साथ आई महिलाओं ने कथित रूप से चाकू निकाल ली और केंजा तथा अमेल पर हमला कर दिया।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano