Tuesday, June 15, 2021

 

 

 

ट्विटर पर पैगंबरों के अपमान के दोषी को 10 साल कैद की सजा

- Advertisement -
- Advertisement -

सऊदी अरब की एक अदालत ने सोशल मीडिया पर नास्तिक विचारों को लेकर सैकड़ों पोस्ट करने वाले शख्स को कड़ी सज़ा सुनाई है। इस शख्स को 10 साल की कैद और 2,000 कोड़े मारने की सज़ा सुनाई गई है। इसे करीब चार लाख रुपए जुर्माना भी भरना होगा।

अल वतन अखबार में छपी खबर के अनुसार, 28 वर्षीय व्यक्ति ने माना कि वह नास्तिक है और इसके लिए उसने माफी मांगने से भी मना कर दिया।

व्यक्ति ने कहा कि जो उसने लिखा, वे उसके विचार हैं और उन्हें व्यक्त करने का उसे पूरा अधिकार है। हालांकि, अखबार ने व्यक्ति का नाम नहीं छापा। अखबार के अनुसार, सोशल मीडिया पर नजर रखने वाली पुलिस ने 600 से अधिक ट्वीट पाए जिनमें अल्लाह के वजूद को नकारा गया और साथ ही कुरान की आयतों को भी मानने से मना कर दिया गया।
आरोप है कि इस शख्स ने अपने ट्वीटस में सभी पैगंबरों की बेअदबी वाली बात के साथ कहा कि उनकी शिक्षा वैमनस्य पैदा करती हैं। उल्लेखनीय है कि सऊदी अरब सरकार ने 2014 में नए कानून लागू किए थे जिसके तहत नास्तिकता को आतंकवाद घोषित किया गया था। (hindkhabar)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles