erdo1

erdo1

तुर्की राष्ट्रपति रजब तैय्यब एर्दोगान ने शनिवार को कहा कि ओटोमन साम्राज्य को खड़ा करने के लिए तुर्की गणराज्य की निरंतरता जारी है.

इस्तांबुल में यिलिज्ज पैलेस में ओट्मन सुल्तान अब्दुलहैद द्वितीय की मृत्यु के शताब्दी समारोह के दौरान उन्होंने कहा,  “तुर्की गणराज्य, हमारे पिछले राज्यों की तरह एक दूसरे की निरंतरता है. यह ओटोमन की निरंतरता है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा, बेशक, सीमाएं बदल गई हैं. सरकार के रूप बदल गए हैं … लेकिन सार एक ही है, आत्मा एक जैसी है, यहां तक ​​कि कई संस्थान भी समान हैं.

एर्दोगान ने सुल्तान अब्दुलहैद द्वितीय को लेकर कहा कि वे सबसे महत्वपूर्ण, सबसे दूरदर्शी और सबसे सामरिक दिमाग वाला व्यक्ति थे. जिन्होंने हाल के 150 वर्षों में अपनी अमिट छाप छोड़ी.

ध्यान रहे सुल्तान अब्दुलहैद द्वितीय,  की 1918 में मृत्यु हो गई थी और वे ओटोमन साम्राज्य के 34 वे सुल्तान थे. इस दौरान एर्दोगान ने सुल्तान अब्दुलहैद के बारे में “बलिष्ट” दृष्टिकोण रखने वालो की भी आलोचना की.

उन्होंने कहा, कुछ लोग जोरदार ढंग से 1923 से इस देश के इतिहास को शुरू करने की कोशिश करते हैं. कुछ असंतुष्ट रूप से हमारी जड़ों और प्राचीन मूल्यों से हमें तोड़ने की कोशिश करते हैं.

Loading...