erdogan
source: haaretz

हाल ही अमेरिका और तुर्की के बीच जो तनाव चल रहा है. उसके चलते दुनिया के कई ताकतवॉर देश अमेरिक के खिलाफ तुर्की के समर्थन में उतर आयें है. जिनमें चीन, ईरान, रूस, क़तर, यूरोप, फ्रांस, पाकिस्तान भी अमेरिका के खिलाफ तुर्की के साथ खड़े है. इसी बीच सोमवार को तुर्की और फ्रांस से संयुक्त प्रतिक्रिया का सामना करना पड़ा जब ट्रेजरी और वित्त मंत्री बेरेट अल्बाराक ने पेरिस में फ्रांसीसी वित्त मंत्री ब्रूनो ले मैयर से मुलाकात की.

तुर्की मीडिया के मुताबिक, बैठक के बाद एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में, दोनों मंत्रियों ने तुर्की की स्थिरता के महत्व पर बल दिया, क्योंकि दोनों देशों ने विभिन्न क्षेत्रों में संयुक्त रूप से कार्य करने का फैसला किया. साथ ही दोनों देशों ने कहा की वह अब और अमेरिका के प्रतिबंधों को नहीं सहेंगे और अमेरिका को मुह तोड़ जवाब देंगे.

अल्बाराक ने कहा कि तुर्की की स्थिरता यूरोप के हित में है और उन्होंने फ्रांस के सहयोगियों के रूप में संयुक्त रूप से कार्य करने का निर्णय लिया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

 

अल्बाराक ने कहा कि उन्होंने और उनके फ्रांसीसी समकक्ष ने द्विपक्षीय व्यापार में सुधार करते हुए तुर्की, यूरोपीय संघ और अन्य देशों पर यू.एस. द्वारा लगाए गए टैरिफ पर विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) में एक साथ अभिनय करने पर चर्चा की.

अल्बाराक के साथ घंटों की लंबी बैठक के बाद, फ्रांसीसी मंत्री ले मैयर ने कहा, “तुर्की में स्थिरता यूरोप और तुर्की में हर किसी के हित में है.” तुर्की के सभी साधनों के साथ संरचनात्मक सुधारों को फिर से शुरू करना महत्वपूर्ण महत्व है.

Loading...