तुर्की के रक्षा मंत्री हुलसी अकार ने कहा है कि तुर्की अजरबैजान के लोगों के साथ उनके “धार्मिक कारणों” की वजह से साथ खड़ा रहेगा और नागोर्नो-करबाख की उनकी “कब्जे वाली भूमि” को मुक्त करने के लिए संघर्ष करेगा।

मंगलवार को सेना के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान उन्होने कहा, आर्मेनिया ने संघर्ष विराम का उल्लंघन किया है और महिलाओं और बच्चों सहित नागरिकों को निशाना बनाया है। उन्होंने कहा कि अज़रबैजान सेना नागरिकों की हत्या को बर्दाश्त नहीं करेगी, और उन लोगों के लिए दुआ की जाएगी जो “शहीद” हो गए हैं, साथ ही साथ जो लोग घायल हो गए हैं।

इससे पहले मंगलवार को, अज़रबैजान के राष्ट्रपति इल्हाम अलीयेव ने अर्मेनियाई कब्जे से ज़ंगिलन और 24 अज़रबैजान गांवों को मुक्त करने की घोषणा की।

अजरबैजान और अर्मेनिया शनिवार आधी रात से शुरू होने वाले मानवीय कारणों के लिए एक दूसरे युद्धविराम पर सहमत हुए। 10 अक्टूबर को मॉस्को में वार्ता के बाद शुरू हुई एक संघर्षपूर्ण बैठक में परस्पर विरोधी दल सहमत थे। दोनों और से कैदियों और पीड़ितों के शवों को बदले जाने पर सहमति हुई थी।

27 सितंबर को, अर्मेनियाई हमले के जवाब में अज़रबैजान सेना ने नागोर्नो-करबाख में एक सैन्य अभियान शुरू किया। जिसमे नागरिकों को निशाना बनाया गया था। सेना ने दर्जनों गांवों के साथ-साथ जाबरयिल, फुजूली और हैदरुत के शहरों को मुक्त करने में सफलता हासिल की।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano