मिस्र की और से जेरुसलम पर संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद में पेश किये गए प्रस्ताव को अमेरिका वीटो कर चूका है. ऐसे में अब तुर्की ने संयुक्त राष्ट्र की महासभा में प्रस्ताव लाने की तैयारी कर ली है.

तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब अर्दोग़ान ने कहा कि जिस मसौदे को अमरीका ने सुरक्षा परिषद की बैठक में वीटो किया है उसी को राष्ट्र संघ की महासभा के पटल पर रखा जाएगा. तुर्की और यमन के अनुरोध पर गुरुवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक आयोजित हो रही है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

तुर्की और यमन के अनुरोध पर महासभा के प्रमुख ने मंगलवार को सभी 193 सदस्यों को संदेश भेजकर महासभा की अपात बैठक की सूचना दे दी है.

आप को बता दें कि सुरक्षा परिषद के 14 सदस्यों के समर्थन के बावजूद अमेरिका ने जेरुसलम पर मिस्र के प्रस्ताव को वीटो कर निरस्त कर दिया. इस प्रस्ताव में कहा गया सुरक्षा परिषद के क्रमांक 478 के अनुसार बैतुल मुक़द्दस में दूतावास खोलने से बचें और सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का पालन करते हुए कोई भी एेसा काम न करें जो इन प्रस्तावों के विपरीत हो.

साथ ही कहा गया कि पवित्र नगर बैतुल मुक़द्दस की पहचान, यथास्थिति और जनसंख्या के संतुलन को बदलने के लिए किये जाने हर काम और फैसले की कोई क़ानूनी हैसियत नहीं होनी चाहिए और संयुक्त राष्ट्र संघ के संबंधित प्रस्तावों के अनुसार उन्हें निरस्त किया जाना चाहिए.

Loading...