Thursday, October 21, 2021

 

 

 

चार्ली हेब्दो के कार्टून पर बोला तुर्की – अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की आढ़ में मुस्लिमों का अपमान संभव नहीं

- Advertisement -
- Advertisement -

तुर्की ने बुधवार को चार्ली हेब्दो पत्रिका की इस्लाम और पैगंबर मुहम्मद का अपमान करने वाले कार्टून को पुनः प्रकाशित करने के लिए कड़ी निंदा की।

एक बयान में, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हामी अकोसी ने कहा कि यह कहना कि प्रेस, कला या अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है, मुसलमानों के प्रति इस अपमान और अपमान का औचित्य साबित करना संभव नहीं है।

अकोसी ने कहा कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के बहाने इस घटना को खारिज करने के लिए फ्रांसीसी अधिकारियों, विशेष रूप से राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन का रवैया भी “अस्वीकार्य” है।

उन्होने कहा, “हर अवसर पर, जो खुद को लोकतंत्र और उदारवादी के रूप में परिभाषित करते हैं, फ्रांस और यूरोप में फासीवादियों और नस्लवादियों की नई पीढ़ी की सेवा कर रहे हैं, जो इस तरह के नस्लवादी और भेदभावपूर्ण कार्यों का उपयोग करते हैं, जो इस्लाम विरोधी और ज़ेनोफ़ोबिया को बढ़ाते हैं।”

अकोसी ने इसे “दयनीय मानसिकता” बताया, उन्होने कहा, जो शांति में रहने वाले लाखों मुसलमानों को भड़काने का प्रयास करता है, हर दिन सामाजिक सद्भाव, एकता और समानता के लिए एक झटका है। उन्होंने कहा, “जो लोग अनजाने में ऐसा कर रहे हैं उन्हें पता होना चाहिए कि वे सामाजिक शांति को नुकसान पहुंचा रहे हैं।”

तुर्की ने राजनेताओं और यूरोपीय सहयोगियों से ऐसे हमलों के खिलाफ एक स्पष्ट रुख अपनाने का आग्रह किया जो मुस्लिम भावनाओं को बढ़ा रहे हैं और चोट पहुंचाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles