Monday, October 25, 2021

 

 

 

हागिया सोफिया के बाद तुर्की में एक और चर्च को मिला फिर मस्जिद का दर्जा

- Advertisement -
- Advertisement -

तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन ने एक और प्राचीन रूढ़िवादी चर्च को मस्जिद में बदलने का आदेश दिया है। इस आदेश के बाद अब इस्तांबुल के एक लोकप्रिय संग्रहालय को मुस्लिम पूजा स्थल में बदल दिया गया।

यूनेस्को की विश्व धरोहर-मान्यता प्राप्त हागिया सोफिया को मस्जिद का दर्जा दिये जाने के ठीक एक महीने बाद कारी संग्रहालय को मस्जिद में बदलने का निर्णय आया। इस मुद्दे पर डिक्री शुक्रवार को तुर्की के आधिकारिक राजपत्र में प्रकाशित हुई।

1,000 साल पुरानी इमारत के इतिहास में हागिया सोफिया की बारीकी से झलकती है – जो कि इस्तांबुल के यूरोपीय हिस्से में गोल्डन हॉर्न के ऐतिहासिक पश्चिमी तट पर स्थित है।

चोरा में पवित्र उद्धारकर्ता एक मध्ययुगीन बीजान्टिन चर्च था जिसे अंतिम निर्णय के 14 वीं शताब्दी के भित्तिचित्रों से सजाया गया था जो ईसाई दुनिया में क़ीमती बने हुए हैं। ओट्टो तुर्क द्वारा कांस्टेंटिनोपल की 1453 की विजय के बाद आधी सदी में इसे मूल रूप से कारी मस्जिद में बदल दिया गया था।

द्वितीय विश्व युद्ध के बाद यह कारी संग्रहालय बन गया।  अमेरिकी कला इतिहासकारों के एक समूह ने तब मूल चर्च के मोज़ेक को पुनर्स्थापित करने में मदद की और 1958 में उन्हें सार्वजनिक प्रदर्शन के लिए खोल दिया। तुर्की की शीर्ष प्रशासनिक अदालत ने नवंबर में एक मस्जिद में संग्रहालय के रूपांतरण को मंजूरी दे दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles