Monday, September 20, 2021

 

 

 

अमेरिका के दबाव में गोलन हाइट्स पर अरब देशों की चुप्पी, तुर्की ने लगाई लताड़

- Advertisement -
- Advertisement -

तुर्की के विदेश मंत्री ने मंगलवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा कब्जे वाले गोलान हाइट्स, पर इजरायल की संप्रभुता को मान्यता देने के कदम पर “कुछ अरब देशों” की चुप्पी पर जमकार लताड़ लगाई।

दक्षिणी अंताल्या प्रांत में एक चुनावी रैली में बोलते हुए, मेव्लुट कैवुसोग्लू ने कहा कि यहां तक ​​कि यूरोपीय संघ भी प्रतिक्रिया दे रहा है लेकिन “कुछ अरब देश” अमेरिका और इजरायल के डर से अपनी आवाज नहीं उठा पा रहे हैं।

कैवसोग्लू ने कहा: “मैं सभी अरब देशों को नहीं कह रहा हूं। मेरा मतलब जॉर्डन और कतर से नहीं है। “मेरा मतलब है कि जो देश अमेरिका के सामने झुक रहे हैं और यरुशलम में इजरायल के कब्जे पर अपनी आवाज नहीं उठा रहे हैं।”

donald trump reuters 1

बता दे कि सोमवार को ट्रम्प ने एक आधिकारिक घोषणा पर हस्ताक्षर किए, जो गोलान हाइट्स को आधिकारिक रूप से इजरायल के क्षेत्र के रूप में मान्यता दे रहा है। यूएन ने कहा कि ट्रम्प की घोषणा के बावजूद, अंतर्राष्ट्रीय कानून के तहत गोलान हाइट्स को अभी भी “अधिकृत क्षेत्र” माना जाएगा।

1967 के अरब-इजरायल युद्ध के दौरान इजरायल ने सीरिया से गोलान हाइट्स पर कब्जा कर लिया। इज़राइल संघर्ष के प्रत्यक्ष परिणाम के रूप में व्यापक गोलान हाइट्स क्षेत्र के लगभग दो-तिहाई हिस्से पर कब्जा करना जारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles