4bpn3a73b11fce12b0u 800c450

सीरिया के शहर पूर्वी ग़ोता में मानवीय त्रासदी की रोकथाम के लिए तुर्की और ईरान ने एक साथ आकर बड़ी पहल शुरू की है.

तुर्की राष्ट्रपति रजब तैयब अर्दोग़ान ने ईरान के राष्ट्रपति डाक्टर हसन रूहानी से टेलीफोन पर बातचीत कर कहा कि पूर्वी ग़ोता की स्थिति बहुत ही चिंताजनक है. ऐसे में दोनों देशों को मिलकर शांति की स्थापना के लिए काम करना चाहिए.

राष्ट्रपति रूहानी ने अर्दोग़ान से कहा कि सीरिया की जनता और विशेष रूप से पूर्वी ग़ोता में आम नागरिकों को बचाने के लिए ईरान और तुर्की की भारी ज़िम्मेदारियां हैं.रूहानी ने पूर्वी ग़ोता से आतंकवादियों के राकेट हमले बंद होने और राजधानी की सुरक्षा की गैरेंटी दिए जाने के साथ क्षेत्र से आम नागरिकों के निकलने के लिए सुरक्षित कोरिडोर बनाए जाने की आवश्यकता पर बल दिया.

साथ ही उन्होंने कहा कि दो पड़ोसी और मुस्लिम देश के रूप में ईरान और तुर्की को चाहिए कि वह सीरिया में युद्ध विराम और शांति की स्थापना के लिए अपनी पूर क्षमताओं को प्रयोग करे.

रूहानी ने पूर्वी ग़ोता से आतंकवादियों के निष्कासन के लिए रूसी सुझाव को क्षेत्र में शांति की स्थापना की ओर एक क़दम बताते हुए एर्दोगान से इस लक्ष्य को सुनिश्चित करने के लिए अपने प्रभाव का प्रयोग करने को कहा.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें