इस्लाम की गलत व्याख्या कर आतंकवाद फैलाना की हो रही कोशिश: इमामे काबा

9:05 am Published by:-Hindi News

पाकिस्तान की यात्रा पर आए इस्लाम धर्म के सबसे पवित्र मस्जिद हरमेंन शरिफेंन के इमाम शेख़ सालेह बिन इब्राहिम ऑले तालिब ने इस्लाम के नाम पर हो रही आतंकी घटनाओं को लेकार कहा कि इस्लाम सुरक्षा और शांति का धर्म है और इसका किसी आतंकवाद के साथ कोई संबंध नहीं. लेकिन कुछ लोग इस्लाम की गलत व्याख्या करके आतंकवाद फैलाना की कोशिश कर रहे हैं.

पाकिस्तान के नौशहरा में आयोजित जमीअत उलेमा ए इस्लाम के कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि आतंकवाद देश को आर्थिक रूप से नष्ट करता हैं. ऐसे में इस्लाम आतंकवाद से दूर रहने के लिए सिखाता है. इस्क्ले लिए बकि आलिम आतंकवाद के खिलाफ खड़े हैं, लेकिन कुछ लोग इस्लाम की गलत व्याख्या पेश करके दुनिया में आतंकवाद फैलाना चाहते हैं.

इमाम-ए-काबा ने कहा,  इस्लाम पूरी मानवता के लिए ख़ैर का धर्म है और सभी इस्लामी देश आतंकवाद के खिलाफ एकजुट हैं. उन्होंने मदरसों को लेकर कहा, दुनिया भर में फैले मदरसे लोगों तक इस्लाम की जानकारी पहुंचा रहे हैं.

उन्होंने कहा कि उम्मते-मुस्लिमा उम्मते-रहमत है और यह उम्मत अपने मुकद्दस जगहों की रक्षा करना जानती है, ऐसे में अब आज पूरी दुनिया की नजरें पाकिस्तान पर टिकी हैं. गौरतलब रहें कि सऊदी अरब के नेतृत्व में बने मुस्लिम देशों के सैन्य संगठन की कमान पाकिस्तान को ही सौंपी गई हैं.

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें