हाल ही में पहली विदेश यात्रा के दौरान इस्लामिक मुल्क सऊदी अरब पहुंचकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने पूरी दुनिया को चौंका दिया था. ऐसे में माना जा रहा था कि मुस्लिमों के प्रति उनका नजरिया बदल गया है. लेकिन ऐसा नहीं है. महज वह सिर्फ के दिखावा था.

विदेशी दौरे से फारिग होकर वापस अमेरिका पहुंचे ट्रम्प ने मुस्लिम बैन को लेकर फिर से अपनी तैयारी शुरू कर दी है. जिससे स्पष्ट है कि सऊदी में ट्रंप का मुस्लिम प्रेम महज एक धोखा था. ट्रंप प्रशास मुस्लिम देशों पर बैन लगाने के फेडरल कोर्ट के आदेश को अब अमरीका की शीर्ष अदालत में चुनौती देगा.

अटॉर्नी जनरल जेफ सेशन्स ने कहा है कि फेडरल कोर्ट के फैसले के खिलाफ यूएस सुप्रीम कोर्ट में अपील की जाएगी. दरअसल मुस्लिम देशों पर बैन के खिलाफ अमरीकी निचली अदालत के फैसले को यूएस सर्किट कोर्ट ऑफ अपील ने 10-3 से सही ठहराया. पहली अपीलीय अदालत ने कहा कि यह बैन संविधान का उल्लंघन करता है.

गौरतलब रहें कि अमरीकी राष्ट्रपति का पद संभालने के फौरन बाद ही ट्रंप ने ईरान, लीबिया, सोमालिया, सुडान, सीरिया और यमन के नागरिकों के अमरीका में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया था. हालांकि इस आदेश पर अमेरिकी अदालत ने रोक लगा दी थी.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें








Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें