Tuesday, October 26, 2021

 

 

 

इजराइल और फिलिस्तीन के बीच शांति के लिए ट्रंप लाने जा रहे ‘पीस प्लान’

- Advertisement -
- Advertisement -

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प इजराइल और फिलिस्तीन के बीच कथित शांति के लिए ‘पीस प्लान’का ऐलान करने वाले है। इसके लिए उन्होने इजरायल के नेताओं के अगले सप्ताह वाशिंगटन बुलाया है। हालांकि फिलिस्तीन सहित पूरी मुस्लिम दुनिया इस ‘पीस प्लान’ को नकार चुकी है।

ट्रम्प ने गुरुवार को रिपोर्टर्स से बातचीत के दौरान कहा कि यह एक बेहतरीन योजना है। हो सकता है फिलिस्तीन के लोगों को शुरुआत में योजना पसंद न आए, लेकिन यह उनके लिए फायदेमंद होगी। ट्रम्प ने मंगलवार को इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजमिन नेतन्याहू और उनके प्रतिद्वंदी बेनी गैंट्ज को इस योजना पर चर्चा के लिए बुलाया है।

ट्रम्प ने कहा कि उनके प्रशासन ने इस योजना के बारे में फिलिस्तीनियों से बातचीत की थी। वहां के नागरिकों ने योजना के सामने आने से पहले ही इसे नकारने का फैसला कर लिया। ट्रम्प ने कहा- अभी हमारी फिलिस्तीन के लोगों से थोड़ी ही बात हुई है। कुछ समय बाद हम फिर इस योजना पर उन्हें समझाने की कोशिश करेंगे।

हालांकि, फिलिस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास के प्रवक्ता नबील अबु रुदिने ने ट्रम्प के इस ऐलान के बाद कहा कि अमेरिका और इजराइल को हद नहीं पार करनी चाहिए। फिलिस्तीन के लोगों का अनुमान है कि ट्रम्प की योजना इजराइल के पक्ष में ही होगी, इसलिए उनके लिए यह बेकार है।

ट्रम्प ने 2017 में इज़राइल के पक्ष में खुलकर कई कदम उठाए हैं, जिसमें उन्होंने यरूशलेम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता देने और अमेरिकी दूतावास को स्थानांतरित करने के साथ-साथ 1967 के बाद से सीरिया के कब्जे वाले गोलान हाइट्स के इजरायली एनेक्सेशन को मान्यता दी है।

इज़राइल की स्थापना 1948 में पूर्व ब्रिटिश फिलिस्तीन जनादेश के अधिकांश भूभाग पर की गई थी, जो जॉर्डन और मिस्र के क्षेत्रों पर कब्जा कर रहे थे, जिन्हें अब वेस्ट बैंक और गाजा के रूप में जाना जाता है। 1967 के यु’द्ध में इजरायल ने दोनों क्षेत्रों को अपने कब्जे में ले लिया। तब से कई शांति प्रस्तावों ने उन क्षेत्रों में फिलिस्तीनी राज्य स्थापित करने की मांग की है। यह “दो राज्य समाधान” आधिकारिक अमेरिकी पद रहा है जब तक कि ट्रम्प प्रशासन ने फरवरी 2017 में इसे त्याग नहीं दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles