तालिबान के साथ वार्ता फिर से शुरू करने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप बिना किसी घोषणा के अफगानिस्तान पहुंच गए हैं। ट्रंप ने बृहस्पतिवार को कहा कि अमेरिका ने तालिबान विद्रोहियों के साथ बातचीत फिर से शुरू कर दी है।

ट्रंप अमेरिकी सैनिकों के साथ ‘थैंक्सगिविंग’ छुट्टियां मनाने के लिए बिना किसी घोषणा के अफगानिस्तान की यात्रा पर आए हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने काबुल के बाहर बाग्राम एयरबेस पर तैनात अमेरिकी सैनिकों के साथ बातचीत की। इस दौरान उन्होंने सैनिकों को भोजन भी परोसा।

इस मौके पर उन्होंने कहा, ‘तालिबान एक समझौता करना चाहता है तथा हम उनके साथ बैठक कर रहे हैं और हम कह रहे हैं कि संघर्ष विराम होना चाहिए और वे संघर्ष विराम नहीं करना चाहते थे और अब वे संघर्ष विराम करना चाहते हैं।’

इससे पहले सितंबर में बातचीत रद्द करने के बाद ट्रंप ने कहा था कि अमेरिकी सैनिक तालिबान के लड़ाकों से बेहद ही कड़ाई से निपट रहे हैं। ट्रंप ने कहा था कि इस तरह की कड़ाई तालिबान के साथ पहले कभी नहीं की गई थी।

बता दें कि अमेरिका और तालिबान मसौदा शांति योजना पर सहमत थे लेकिन सितंबर में काबुल में हुए एक आत्मघाती हमले में एक अमेरिकी सैनिक की मौत के बाद राष्ट्रपति ट्रंप ने बातचीत की प्रक्रिया रद्द कर दी थी।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन