अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा लिए गए मुस्लिमों के खिलाफ भेदभाव पूर्ण फैसलों के विरोध में अब जापानी-अमेरीकी समुदाय आ गया हैं.

75 साल पहले, 14 जनवरी को अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति फ्रैंकलिन डी रूजवेल्ट ने भी ट्रम्प द्वारा मुस्लिमों के पंजीकरण की योजना की तरह जापानी, जर्मन और इतालियन समुदाय के लोगों का भी न्याय विभाग के जरिए पंजीकरण किया था.

ऐसे में अब 19 फरवरी को जो द्वित्तीय विश्व युद्ध के दौरान अमेरिका द्वारा अपने जापानी समुदाय की नज़रबंदी करने की 75वी वर्षगाँठ हैं पर मुसलमानों के लिए “विजिलेंट लव” नाम से एक मुहीम शुरू करने की घोषणा की हैं. अमरीकी-जापानी समुदाय ट्रम्प के राष्ट्रपति चुनाव प्रचार के वक़्त से ही ट्रम्प के मुस्लिम रजिस्ट्री प्रस्ताव के खिलाफ रहा हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

लिटल टोक्यो कम्युनिटी कौंसिल के 29 वर्षीय मैनेजिंग डायरेक्टर क्रिस्टिन फुकुशीमा ने इस बारें में कहा कि “जब हमारे समुदाय के साथ ऐसा हुआ तब कई लोग थे जो हमारे साथ खड़े हुए थे, अब यह हमारी ज़िम्मेदारी है कि हम दूसरों के लिए खड़े हों.”

Loading...