नई दिल्ली: डेमोक्रेटिक पार्टी के जो बाइडन के साथ अपनी पहली अमेरिकी प्रेसिडेंशियल डिबेट में अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने कोरोना वायरस से मौतों को लेकर भारत पर उंगली उठाई है। राष्ट्रपति ट्रंप ने चीन और रूस के साथ भारत पर भी मौत का सही आंकड़ा नहीं देने का आरोप लगाया।

ट्रंप ने कहा, अगर बाइडेन राष्‍ट्रपति होते तो अमेरिका में कम से कम 20 लाख लोग मारे गए होते। वहीं बाइडेन ने भी ट्रंप पर पलटवार किया। उन्‍होंने कहा कि ट्रंप ने इंतजार किया और इंतजार किया। ट्रंप के पास अभी भी कोई प्‍लान नहीं है। फंड नहीं है जिससे लोगों की जान बचाई जा सके। बहस के दौरान ट्रंप ने आरोप लगाया कि भारत, चीन और रूस ने कोरोना से मौतों का सही-सही आंकड़ा नहीं दिया।

उन्होने अपने भाषण में कहा, ‘अगर हमने देश को खोले रखा होता तो बस दो लाख ही नहीं, इससे ज्यादा लोगों की जान गई होती। ये सब चीन की गलती है और जब आप आंकड़ों की बात करते हैं तो आपको क्या पता चीन में कितने लोगों की मौत हुई है। रूस में कितने लोग मरे हैं या फिर भारत में कितने लोग मरे हैं। ये लोग सही आंकड़े नहीं देते हैं।’

ट्रंप ने जो बाइडेन पर निशाना साधते हुए कहा कि, ‘जब मैंने लॉकडाउन लगाया तो आपने मुझे रेसिस्ट, नस्लवादी बताया था। आपको लगा था कि ये बहुत बुरा फैसला था, लेकिन डॉक्टर फाउची ने खुद कहा है कि राष्ट्रपति ट्रंप ने लाखों जिंदगियां बचाई हैं।’

ट्रंप के इस जवाब पर बाइडेन ने कहा कि यह वही (ट्रंप) वही व्‍यक्ति हैं जो यह दावा कर रहे थे कि ईस्‍टर तक कोरोना वायरस खत्‍म हो जाएगा। जो बाइडेन ने कहा, ‘सच ये है कि उन्होंने (डोनाल्ड ट्रंप) जो कुछ भी कहा है, वो सिर्फ झूठ है। मैं यहां पर उनके झूठ गिनाने नहीं आया हूं। हर कोई जानता है कि वो झूठे हैं।’

ट्रंप ने बाइडेन से कहा कि आप नहीं चाहते थे कि कोरोना को देखते हुए चीन के लिए हमें अपने दरवाजे बंद कर देने चाहिए क्‍योंकि आप समझते थे कि यह भयानक है। इस पर बाइडेन ने कहा कि कोरोना वायरस से बड़ी संख्‍या में लोग मारे गए और अगर स्‍मार्ट और तेजी से कदम नहीं उठाए गए तो और भी लोग अभी मरेंगे। जो बाइडेन ने हमला बोलते हुए ट्रंप से कहा कि आप अब तक के सबसे खराब राष्‍ट्रपति हुए हैं।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano