अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा 7 मुस्लिम बहुल देशों के नागरिकों के अमेरिका में प्रतिबंध लगाने पर पहले ही ट्रम्प को दुनिया भर की आलोचना का सामना करना पड़ रहा हैं. लेकिन अब उनके अपने भी उनके इस फैसले के खिलाफ खड़े हो गए हैं.

दुनिया भर में अमरीका के सैकड़ों राजनयिकों ने राष्ट्रपति ट्रंप इस इस पाबंदी लगाने के फ़ैसले की कड़ी आलोचना की हैं. विदेश विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के लिए एक ‘डिसेंट केबल’ यानी आपत्ति दर्ज़ करनेवाले दस्तावेज़ का एक मसौदा तैयार किया गया है.

अमरीका में प्रदर्शनकारी
ट्रम्प के आदेश के खिलाफ अमेरिका में हो रहे प्रदर्शन

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बीबीसी के अनुसार, इसमें कहा गया है कि इस नीति से मुट्ठी भर संभावित चरमपंथियों को रोकने के लिए 20 करोड़ दूसरे वैध यात्रियों के लिए अमरीका की सीमा बंद हो जा सकती है. उन्होंने कहा है कि इस क़दम से अमरीका की सुरक्षा नहीं बढ़ेगी. दस्तावेज़ के अनुसार ट्रंप ने जो एक्ज़ीक्यूटिव ऑर्डर जारी किया है वो अमरीकी मूल्यों के ख़िलाफ़ है और इससे पूरी दुनिया में अमरीका विरोधी भावनाओं को हवा मिलेगी.

अमरीकी राष्ट्रपति कार्यालय ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि आपत्ति जताने वाले अमरीकी राजनयिकों को या तो इस पाबंदी को स्वीकार करना चाहिए या पद छोड़ देना चाहिए. याद रहें कि  सोमवार को अमरीका की कार्यकारी अटॉर्नी जनरल ने भी ट्रंप का ये आदेश मानने से इंकार किया था और कहा था कि वो इस आदेश से सहमत नहीं हैं. अटॉर्नी जनरल के एलान के एक घंटे के बाद ही ट्रंप ने उन्हें बर्ख़ास्त करने का आदेश जारी कर दिया था.

Loading...