मिसाइल परीक्षणों को लेकर ईरान के खिलाफ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ए प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है. अमेरिका ने दो दर्जन से अधिक ईरानी इकाइयों पर प्रतिबंध लगाये हैं.

दरअसल, ईरान ने एक बैलेस्टिक मिसाइल के परीक्षण करने का दावा किया है, हालांकि उसने परमाणु समझौते से संबंधित शर्तों के उल्लंघन से इनकार किया है. ईरान ने ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार बैलेस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया है.

ईरान के मिसाइल परीक्षण तेहरान से करीब 225 किलोमीटर पूर्व सेमनान इलाके में किया गया. इस मिसाइल की मारक क्षमता 600 मील है. ईरान का कहना है कि उसकी मिसाइलें संयुक्त राष्ट्र प्रस्तावों का उल्लंघन नहीं हैं, क्योंकि वे सिर्फ रक्षा उद्देश्यों के लिए हैं तथा उनको परमाणु हथियार ले जाने के सक्षम नहीं बनाया गया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अमेरिकी वित्त विभाग ने एक बयान में कहा कि आतंकवाद को ईरान के निरंतर सहयोग और इसके बैलेस्टिक मिसाइल कार्यक्रम के विकास ने क्षेत्र, दुनिया भर में हमारे साझेदारों और अमेरिका के लिए खतरा पैदा किया है.

याद रहें कि ईरान द्वारा अमेरिका की चेतावनी को खारिज किए जाने के बाद ट्रंप ने आरोप लगाया था कि ईरान ‘आग के साथ खेल रहा है.’ ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, ‘ईरान आग के साथ खेल रहा है- वे मानते नहीं हैं कि राष्ट्रपति ओबामा उनके प्रति कितने दयालु थे. मैं नहीं हूं.’

Loading...