पिछले सप्ताह ईरान ने बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया था जिसके बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने नए प्रतिबंध लगाते हुए दो दर्जन से अधिक ईरानी इकाइयों पर प्रतिबंध की घोषणा की हैं.

ऐसे में अब ईरान ने अमेरिका के इन प्रतिबंधों को ठेंगा दिखाते हुए मिसाइलों के साथ युद्धाभ्यास की घोषणा की हैं. शनिवार को ईरान की और से कहा गया कि वह रेवोल्यूशनरी गार्ड के युद्धाभ्यास के लिए मिसाइलों को तैनात करेगा.

रेवोल्यूशनरी गार्ड की सेपाहन्यूज वेबसाइट ने बताया कि उत्तरपूर्वी सेमनान प्रांत में युद्धाभ्यास का मकसद ‘‘खतरों से निपटने के लिए पूरी तैयारी’’ प्रदर्शित करने के लिए और अमेरिका की ओर से लगाए गए ‘‘अपमानजनक प्रतिबंधों’’ के खिलाफ है.

वेबसाइट ने कहा, ‘‘इस अभ्यास में स्वदेश निर्मित विभिन्न तरह के रडार और मिसाइल तंत्र, कमान और नियंत्रण केन्द्रों और साइबर युद्ध तंत्रों का इस्तेमाल किया जाएगा.’’ वेबसाइट ने बाद में तैनात की जाने वाली मिसाइलों की सूची प्रकाशित की जो 75 किलोमीटर तक की कम दूरी तय करने वाली मिसाइलें हैं.

ईरान के विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘‘अमेरिका के नए कदमों के जवाब में ईरान इस क्षेत्र में आतंकवादी संगठनों की मदद करने में उनकी भूमिका के लिए कुछ अमेरिकी लोगों और कंपनियों पर कानूनी सीमाएं लागू करेगा.’’ इन लोगों के नामों की सूची बाद में प्रकाशित की जाएगी.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें