external

वाशिंगटन | अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प पर वाइट हाउस ने गंभीर आरोप लगाए है. वाइट हाउस ने ट्रम्प पर , राष्ट्रपति चुनाव के दौरान, रूस के साइबर हमले की जानकारी होने का आरोप लगाया. हालाँकि उन्होंने डोनाल्ड ट्रम्प के निर्वाचन को अमान्य करार देने से मना कर दिया. वही वर्तमान राष्टपति बराक ओबामा ने कहा की वो चुनावो में रुसी साइबर हमले की जांच करायेंगे.

वाइट हाउस के प्रेस सचिव जोश अर्नेस्ट ने एक प्रेस वार्ता में कहा की डोनाल्ड ट्रम्प को , राष्ट्रपति चुनावो के दौरान हुए रुसी साइबर हमले की जानकारी थी. उन्होंने सिर्फ इसलिए इसका विरोध नही किया क्योकि ट्रम्प को इसका फायदा हो रहा था. जबकि रुसी साइबर हमले से हिलेरी क्लिंटन को काफी नुकसान हो रहा था. अकेले ट्रम्प को इसकी जानकारी नही थी बल्कि न्यूज पेपर पढने वाले हर अमेरिकी को इसकी जानकारी थी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अर्नेस्ट ने आगे कहा की ऐसा भी हो सकता है की ट्रम्प को जानकारिय मिल रही थी उनका श्रोत मीडिया हो और उन्होंने मीडिया की बातो पर ही यकीन किया हो लेकिन यह भी संभव है की उनको किसी और ने यह जानकारिय मुहैया कराई हो. हालांकि किसी को भी इसके वास्तविक श्रोत की जानकारी नही है.

डोनाल्ड ट्रम्प के निर्वाचन को अमान्य करार देने पर अर्नेस्ट ने कहा की हम डोनाल्ड ट्रम्प के निर्वाचन को अमान्य करार नही दे रहे है. हमने उनकी टीम से सुना है की वो चिंतित है की ट्रम्प के निर्वाचन को अमान्य करार देने की कोशिश हो रही है. लेकिन ऐसा नही है. खुद राष्ट्रपति ओबमा ने मतगणना के कुछ घंटो बाद ही कह दिया था की वो ट्रम्प को बिना किसी अड्चनो के सत्ता हस्तांतरित करने के लिए प्रतिबद्ध है.

Loading...