Tuesday, July 27, 2021

 

 

 

अमेरिका में शुरू हुई ट्रंप युग की शुरुआत, शपथ के साथ दिया अमेरिका फर्स्ट का नारा

- Advertisement -
- Advertisement -

डोनाल्ड जॉन ट्रंप ने अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति पद की शपथ ले ली है. इस दौरान उन्होंने 20 मिनट तक अमरीकियों को संबोधित किया. चीफ़ जस्टिस जॉन रॉबर्ट्स ने ट्रंप को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. उन्होंने यूएस कैपिटल की परंपरा के अनुसार ट्रंप ने ऐतिहासिक लिंकन बाइबिल पर हाथ रखकर शपथ ली.

राष्ट्रपति के रूप में डोनल्ड ट्रंप ने अपने पहले भाषण कहा कि उनका देश अमेरिका फर्स्ट की नीति पर चलेगा और यही उनकी सरकार का मूलमंत्र होगा.  उन्‍होंने लोगों से कहा कि वर्ष साल 2017 अमेरिका की अगुवाई करने वालों को बदलने का गवाह बन रहा है। हम वाशिंगटन डीसी की जगह आपको ताकत सौंप रहे हैं.

ट्रंप ने कहा कि आज से जनता शासक है. ये मेरी नहीं जनता की सरकार है. ट्रम्प ने कहा कि 20 जनवरी, 2017 को आम लोगों के इस देश का शासक बनने के दिन के तौर पर याद किया जाएगा. हम मिलकर चुनौतियों का सामना करेंगे. अब गरीबी और बेरोजगारी मिटाना है. अमेरिका के लोगों को अच्छे स्कूल, सुविधाएं चाहिए. अमेरिका में उद्योग धंधों का बुरा हाल है. ट्रंप ने अमेरिकी लोगों से कहा कि मैं आपकी नौकरियों को वापस लाऊंगा.

आर्थिक एजेंडे को प्राथमिकता देते हुए राष्ट्रपति ट्रंप ने स्पष्ट किया कि व्यापार, कर, श्रम, विदेश या अप्रवासियों का मामला हो, अब अमेरिकी जनता का हित सबसे ऊपर रहेगा. उनकी सरकार बाय अमेरिका और हायर अमेरिका की नीति पर आगे बढ़ेगी.

ट्रंप ने कहा कि हमने दूसरों की रखवाली की पर अपनी नहीं की. अब मैं आपको कभी मायूस नहीं करूंगा. देश में अभी से बदलाव शुरू होंगे. अब पूरी दुनिया में कोई भी अमेरिका की अनदेखी नहीं कर सकेगा. डोनाल्ड ने पूरी दुनिया के लोगों को शुक्रिया भी कहा. ट्रंप ने कहा कि धरती से अब कट्टर इस्लामिक आतंकवाद को मिटा देंगे. उन्होंने कहा कि अब बात करने का समय खत्म हो गया है. अब एक्शन का समय है.

उन्होंने पहले की सरकारों की आलोचना करते हुए कहा कि अभी तक हम दूसरे देशों की सेनाओं को मदद देते रहे और हमारी सेना कमजोर रही. नेता अमीर हुए, जनता गरीब हुई, हमने दूसरे देशों में विदेशी निवेश किया और देश में कंपनियां-कारखाने बंद हुए. लेकिन अब अमेरिकी हाथों और अमेरिकी तकनीक से देश आगे बढ़ेगा.

उन्होंने कहा कि अब मां-बच्चे ग़रीबी में संघर्ष नहीं करेंगे। धन की कमी से शिक्षा की गुणवत्ता पर असर नहीं पड़ेगा. ड्रग्स, अपराधी गैंग का अत्याचार बंद होगा. मध्यम वर्ग को आर्थिक समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles