अमरीक राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प द्वरा सात मुस्लिम बहुल देशों के नागरिकों के अमरीका आने पर प्रतिबंध लगाने के फैसले के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिक्रिया सामने आयी है और शरणार्थियों एंव मुसलमानों के खिलाफ ट्रम्प के इस फैसले को अमानवीय और जातीवाद से प्रेरित बताया जा रहा है। लेकिन इसके बावजूद ट्रंप प्रशासन कार्यवाही कर रहा है।

अमरीका के इस कदम की संयुक्त राष्ट्र और यूरोप में फ्रांस समेत कई देशों ने तीखी आलोचना की है। ट्रंप के आदेश को ईरान ने इस्लामिक दुनिया का अपमानबताया है। इसके साथ ही ईरान ने भी जवाबी कार्रवाई की बात कही है। ईरान ने कहा है कि ट्रंप के इस फैसले के जवाब में वो भी अमरीकी लोगों के ईरान आने पर पाबंदी लगाएगा। इसके साथ ही ट्रंप के इस फैसले की अमरीका समेत दुनियाभर में आलोचना शुरू हो गई है।

ट्रम्प के इस फ़ैसला का विरोध करने वाले संगठनों में अमरीका के राष्ट्रीय शरणार्थी अधिकार केन्द्र और अमरीका के नागरिक आज़ादी संघ शामिल हैं। इस बीच अमरीकी यूनिवर्सिटियों के प्रोफ़ेसरों और शोधकर्ताओं ने एक बयान में, जिस पर उनके दस्तख़त भी हैं, कहा है कि ट्रम्प के शरणार्थियों के बारे में आधिकारिक आदेश से अमरीकी यूनिवर्सिटियों की छवि को भारी नुक़सान पहुंचेगा।

ह्यूमन राइट्स वॉच ने भी इस बारे में एक बयान जारी किया है। इस बयान में आया है कि अमरीका ऐसे समय में अपनी ज़िम्मेदारी से दामन छुड़ा रहा है, जब पूरी दुनिया में शरणार्थियों की संख्या बढ़ गयी है और जंग के कारण बेघर होने वालों को पहले से ज़्यादा मदद की ज़रूरत है।

संयुक्त राष्ट्र संघ के उच्च शरणार्थी आयोग और अंतर्राष्ट्रीय पलायन संगठन ने भी इस संदर्भ में एक संयुक्त बयान जारी किया है, जिसमें ट्रम्प के इस आदेश की आलोचना करते हुए उनसे शरणार्थियों के संबंध में एक जैसा रवैया अपनाने की मांग की गयी है।

सभी विरोधों के बावजूद अमरीकी प्रशासन ने इस पर कार्रवाई तेज कर दी है। अमरीका के जॉन एफ केनेडी हवाई अड्डे पर शनिवार को दो इराकी शरणार्थियों को हिरासत में ले लिया गया। बताया जाता है कि इनमें से एक जो अमरीकी सेना के लिए अनुवादक का काम कर चुका है, उसे जांच के बाद छोड़ दिया गया। मगर दूसरा व्यक्ति अब भी इमिग्रेशन विभाग के हिरासत में है। इसके अलावा भी 11 शरणार्थियों को गिरफ्तार किया गया है। और कई मुसलमानों को अमरीका के जहाज में सवार होने से रोक दिया गया है।

गौरतलब है कि ट्रंप ने सीरिया, ईरान, इराक, लीबिया, सोमालिया, सूडान और यमन के नागरिकों के अमरीका में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है। खबरों के मुताबिक, ट्रंप के आदेश के बाद अमरीका जानेवाली कई हवाई सेवा प्रदाताओं ने यात्रियों को उड़ान में जाने से रोक दिया है। इन सातों देशों के अमरीकी ग्रीन कार्ड हासिल कर चुके नागरिकों को भी कोई छूट नहीं दी जा रही है।

 


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें