वाशिंगटन | डोनाल्ड ट्रम्प ने अमेरिका के 45वे राष्ट्रपति के रूप में कल शपथ ले ली. शपथ लेने के बाद ट्रम्प ने अपने भाषण में एक बार फिर ‘अमेरिका फर्स्ट’ का नारा दिया. उन्होंने इस्लामिक आतंवाद को जड़ से ख़त्म करने का वादा किया तो लोगो को बताया की अब सत्ता ट्रम्प के हाथो में नही बल्कि अमेरिका की जनता के हाथो में होगी. अब नेताओ जैसे भाषण नही होगा बल्कि एक्शन होगा.

ट्रम्प ने अपने भाषण की शुरुआत ‘अमेरिका फर्स्ट’ के नारे के साथ की. उन्होंने कहा की हम दो नियमो को फोलो करेंगे ‘ बाई अमेरिकन, हायर अमेरिकन’. ट्रम्प ने सत्ता सँभालते ही यह जता दिया की अब अमेरिका में अमेरिकी लोगो की ही बात होगी और उन्ही के हितो के लिए काम किया जायेगा. डोनाल्ड ट्रम्प का यह नारा , अमेरिका में रह रहे अप्रवासियो के लिए सही संकेत नही है.

इस्लामिक आतंकवाद पर कड़ी टिप्पणी करते हुए डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा की हम कट्टरपंथी इस्लामिक आतंकवाद को धरती से खत्म कर देंगे. ट्रम्प ने कहा की 20 जनवरी 2017 को इसलिए याद किया जाएगा की इस दिन अमेरिका की जनता देश की शासक बनी. आज से हम वाशिंगटन डीसी से पॉवर का ट्रान्सफर लोगो के हाथो में किया जा रहा है. मैं कभी आपको निराश नही करूँगा, अमेरिका फिर जीतेगा.

ट्रम्प ने नसलवाद पर बोलते हुए कहा की चाहे हम काले हो, भूरे हो या सफ़ेद हो लेकिन हम सभी के अन्दर देशभक्ति का लाल खून दौड़ रहा है. हमने दुसरे देशो की सीमओं को सुरक्षित करने के लिए हमने कीमत दी. अरबो डॉलर खर्च किये गए और हम कमजोर होते चले गए. लेकिन हम अमेरिका को फिर अमीर बनायेंगे, लोगो का भरोसा फिर लौटायेंगे.

नेताओं पर प्रहार करते हुए ट्रम्प ने कहा की हम ऐसे नेताओ को कभी मंजूर नही करेंगे जो काम कुछ नही करते केवल शिकायत करते रहते है. क्योकि अब शिकायत करने का नही बल्कि एक्शन का समय है. ट्रेड, टैक्सेस, फॉरेन अफेयर्स और इमिग्रेशन जैसे हर मुद्दे पर फैसला ऐसा लिया जाएगा जो अमेरिकी परिवारों और यहां के वर्कर्स को प्रोटेक्ट करे.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें