Saturday, November 27, 2021

शान-ए-मुहम्मदी (सल्ल.) में गुस्ताखी, मिस्र में लगा यूट्यूब पर बैन

- Advertisement -

मिस्र की उच्च अदालत ने वीडियो शेयरिंग यूट्यूब को एक महीने के लिए बैन कर दिया है. अदालत ने ये फैसला शान-ए-मुहम्मदी (सल्ल.) में गुस्ताखी को लेकर दिया है.

दरअसल, यूट्यूब को इस्लाम धर्म के पैगंबर हजरत मुहम्मद (सल्ल.) के अपमान से जुड़े वीडियो को हटाने का आदेश दिया था. लेकिन यूट्यूब ने वीडियो नहीं हटाया.

बता दें कि मिस्र की एक सहायक प्रशासनिक अदालत ने कम्युनिकेशनज और इन्फोर्मेशन टेक्नोलॉजी की मंत्रालय ने यूट्यूब को बैन करने का आदेश 2013 में ही जारी कर दिया था.

लेकिन इस आदेश के खिलाफ अदालत में अपील की गई थी. ऐसे में अदालत ने भी  मंत्रालय को फैसले को सही ठहराते हुए बैन लगा दिया.

मिस्री मंत्रालय का कहना है कि इस आदेश पर इंटरनेट सर्च इंजन गूगल को प्रभावित किए बिना कार्यान्वयन असंभव है. मिस्र को इससे भारी लागत के अलावा रोजगार का नुकसान भी सहना पड़ेगा.

ये वीडियो “इनोसेंस ऑफ मुस्लिम” फिल्म का है. जिसकी वजह से मिस्र सहित दुनिया भर में अमेरिका को भारी विरोध का सामना करना पड़ा था.

वकील मोहम्मद हामिद सलेम जिन्होंने 2013 में मामला दायर किया था, ने कहा कि सत्तारूढ़ यह भी आदेश देता है कि फिल्म प्रसारित करने वाले सभी लिंक अवरुद्ध किए जाएंगे.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles