Thursday, June 17, 2021

 

 

 

चुनाव से पहले हजारों इजरायलियों ने नेतन्याहू के खिलाफ किया विरोध प्रदर्शन

- Advertisement -
- Advertisement -

दो साल में देश के चौथे चुनाव से ठीक तीन दिन पहले प्रधान मंत्री बेंजामिन नेतन्याहू को बड़े विरोध का सामना करना पड़ा। हजारों इजरायलियों ने शनिवार को यरूशलेम में नेतन्याहू के निवास के बाहर प्रदर्शन किया।

प्रदर्शनकारियों ने सड़कों को पूरी तरह से बंद कर दिया, झंडे लहराए, ड्रमों को पीटा, और 71 वर्षीय रूढ़िवादी को बदलने के लिए नारे बुलंद किये। पिछले एक साल में नेतन्याहू के कई विरोध प्रदर्शनों की तुलना में भीड़ बड़ी थी, इस्राइली मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार इसकी संख्या लगभग 20,000 थी।

हालांकि उनके दक्षिणपंथी लिकुड के 23 मार्च के मतदान में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरने की उम्मीद है। नेतन्याहू पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं और आलोचकों द्वारा कोरोनोवायरस महामारी का गलत इस्तेमाल करने का आरोप लगाया गया है।

नेतन्याहू अपनी सरकार के तेजी से COVID-19 टीकाकरण कार्यक्रम की सफलता की उम्मीद कर रहे हैं, जिसने अरब देशों के साथ सामान्यीकरण समझौतों की एक श्रृंखला के साथ तीन लॉकडाउन के बाद अर्थव्यवस्था को खोलने की अनुमति दी है।

इस्राइल में दो साल से भी कम समय में चौथी बार 23 मार्च को चुनाव होने जा रहे हैं। इस्राइली मीडिया संस्थानों के पूर्वानुमानों के मुताबिक, नेतन्याहू की लिकुड पार्टी 120 सदस्यीय संसद में 30 सीटें जीत सकती है, लेकिन उसके गठबंधन सहयोगियों के महज 50 सीटें जीतने का अनुमान है।

वहीं दूसरी ओर वैचारिक रूप से अलग दल जो नेतन्याहू को पद से हटाना चाहते हैं। उन सबके पास कुल मिलाकर 56-60 सीटें आ सकती हैं, जो बहुमत से कुछ ही कम है। नेतन्याहू विरोधी सबसे बड़ा दल येश अतिद पार्टी 20 सीटें जीत सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles