rohingya123

rohingya123

रंगून: रोहिंग्या मुस्लिमों के खिलाफ लगातार जारी जुल्मों-सितम के चलते प्रतिरोधक रूख अपनाने वाले रोहिंग्या मुस्लिमों के संगठन अराकान रोहिंग्या आर्मी ने कहा कि अपने समुदाय के लोगों के हितों की रक्षा करने के लिए अब उनके पास सरकार प्रायोजित कथित ज्यादतियों से लडने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है.

शुक्रवार सेना पर हमले करने वाली अराकान रोहिंग्या साल्वेशन आर्मी (ARSA) के नेता अताउल्लाह खान की ओर से ट्वीटर पर जारी एक बयान में कहा गया कि म्यांमार सरकार प्रायोजित आतंकवाद से निपटने के लिए लडाई के अलावा हमारे पास कोई विकल्प नहीं बचा है और हम अपने समुदाय के हितों की रक्षा करेंगे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस बयान में कहा गया है कि रोहिंग्या समुदाय के भविष्य से जुड़े फैसलों और मानवीय जरूरतों के बारे में कोई भी कदम उठाने से पहले इस समुदाय के प्रतिनिधियों को भी शामिल किया जाना चाहिए. संगठन ने यह भी स्पष्ट किया है कि मुस्लिम आतंकवादी समूहों से उसका कोई लेना देना नहीं है और वह केवल रोहिंग्या समुदाय पर होने वाले अत्याचारों के खिलाफ आवाज उठा रहा है.

हाल ही में अराकान रोहिंग्या आर्मी के सदस्यों ने घात लगाकर म्यांमार सेना के एक ट्रक पर हमला कर किया था. जिसमें पांच सुरक्षाकर्मी घायल हो गए थे. ध्यान रहे म्यांमार में रोहिंग्या समुदाय को नागरिकता का अधिकार नहीं है और न ही वे कहीं स्वतंत्र रूप से आ जा सकते हैं.

25 अगस्त से लगातार म्यांमार सेना और बौद्ध चरमपंथी उन्हें निशाना बना रहे है. जिसके चलते 7 लाख के करीब रोहिंग्या मुस्लिमों ने पड़ोसी देश बांग्लादेश में शरण ली हुई है.

Loading...