Monday, October 18, 2021

 

 

 

‘मॉडरेट इस्लाम’ पर एर्दोगान ने मुहम्मद बिन सलमान को सुनाई खरी-खरी

- Advertisement -
- Advertisement -

er

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान की और से सऊदी अरब में शुरू किये गए ‘मॉडरेट इस्लाम’ के अभियान को लेकर तुर्की राष्ट्रपति रजब तैय्यब एर्दोगान भड़क उठे है. उन्होंने बिन सलमान के ‘मॉडरेट इस्लाम’ को पश्चिम की देन  करार दिया.

अर्दोग़ान ने शुक्रवार को इस्लामी सहयोग संगठन (OIC) की बैठक में बोलते हुए मुहम्मद बिन सलमान संबोधित किया और कहा कि ‘मॉडरेट इस्लाम’ पश्चिम ने गढ़ा है. उन्होंने मुहम्मद बिन सलमान की और इशारा करते हुए कहा कि जिसने इस शब्द का प्रयोग किया वह यह सोचता है कि उससे संबंधित है किन्तु उससे संबंधित नहीं है.

उन्होंने कहा कि इस्लाम संतुलित और असंतुलित नहीं है, इस्लाम एक ही है और कोई भी इसकी विविधता का मामला नहीं उठा सकता. अर्दोग़ान ने आगे कहा, तुम ‘मॉडरेट इस्लाम’ की बात करते हो जबकि महिलाओं को ड्राइविंग की अनुमति नहीं देते, इसका इस्लाम में कोई लेनादेना है? नहीं, कहते हैं कि इसके बाद अनुमति मिल जाएगी, अभी तक यह सब नहीं था, हमने इस्लाम के बारे में अभी तक एेसी चीज़ें नहीं सुनीं.

तुर्की राष्ट्रपति ने कहा, इस तरह के शब्दों का उपयोग करने का उद्देश्य इस्लाम को कमजोर करना है. इस दौरान उन्होंने मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ भेदभाव की भी आलोचना की. उन्होंने कहा, धीरे-धीरे ईयू के राज्यों में सार्वजनिक-निजी जगह पर सिर ढंकने पर प्रतिबंध लगाया जा रहा है.

उन्होंने पश्चिमी देशों पर भड़कते हुए कहा कि “आज, अधिकांश यूरोपीय संघ के देशों ने मुस्लिम महिलाओं की सक्रिय रूप से काम करने और शिक्षा तक पहुंच को प्रतिबंधित किया है. जो लोग हमें मानव अधिकारों पर सबक सिख रहे हैं दुर्भाग्य से उनके देशों में मूलभूत मानवाधिकारों को कुचल दिया जा रहा है.”

एर्दोगान ने यह भी कहा कि तुर्की ने सीरिया और इराक से अकेले शरणार्थियों पर 30 अरब डॉलर खर्च किए हैं, जबकि यूरोपीय संघ ने शरणार्थियों के लिए 6 अरब यूरो देने का वचन दिया है, लेकिन अभी तक केवल 800 मिलियन यूरो दिए हैं.

उन्होंने कहा, विकसित देशों ने उच्च दीवारों के पीछे सख्त सुरक्षा नीतियों के साथ शांति और आराम की खोज की है, तुर्की ने अपने जातियों, धर्म, भाषा और संप्रदाय की परवाह किए बिना लाखों लोगों को अपनाया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles