ima

नाइजीरिया के प्लाटू स्टेट में धार्मिक हिंसा का दौर जारी है। लोग एक दुसरे की जान के दुशमन बने हुए है। बावजूद कुछ लोग ऐसे भी है जो किसी भी कीमत पर इंसानियत का पाठ नहीं भूलते है।

ऐसा ही नजारा प्लाटू स्टेट के एक गांव मे देखने को मिला। जब मुस्लिम और फुलानी लोगों ने आपसी झगड़े मे ईसाइयों के ऊपर हमला बोल दिया। कुछ लोगों ने इसाइयों पर गोलीबारी शुरू कर दी।

इसी बीच स्थानीय मस्जिद के इमाम ने न केवल अपनी जान पर खेलकर उनकी हिफाजत की। बल्कि उन्हे मस्जिद मे शरण देकर उन्हे बचाया। जिसके बाद 250 ईसाई लोग अपनी जान बचाने के लिए पास के दूसरे गांव में भाग सके।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इमाम ने भागे हुए लोगों में शामिल महिलाओं को पहले अपने घर में छिपाया, फिर जितने पुरुष उनमें शामिल थे, उन्हें मस्जिद में छिपाय। बच्चों को भी इमाम ने छिपा दिया, ताकि बंदूकधारी मुस्लिमों की नजर उन पर न पड़े।

इस दौरान हमलावरों ने इमाम से कहा कि वह मस्जिद में छिपे लोगों को बाहर लाए, लेकिन इमाम ने ऐसा करने से साफ मना कर दिया। उसके बाद उन लोगों ने इमाम का घर और मस्जिद जलाने की धमकी दी, जिसके बाद इमाम ने खुद को उनके सामने सौंप दिया।

इमाम बंदूकधारी लोगों के सामने जमीन पर लेट गए। उनके साथ कुछ अन्य मुस्लिम लोगों ने भी ऐसा किया। इमाम ने रोना चालू कर दिया और बंदूकधारियों से निवेदन किया कि वे उन लोगों को छोड़ दें और यहां से चले जाएं। जिसके बाद वे चले गए। लेकिन उन्होंने दो चर्चों में आग लगा दी।

Loading...